Day: July 6, 2018

खींच दी लक्ष्मण रेखा (राष्ट्रीय सहारा)

फैजान मुस्तफा पांच सदस्यीय संविधान पीठ का 535 पृष्ठीय सर्वसम्मत फैसला स्पष्टतया मोदी सरकार के खिलाफहै, जो दिल्ली के उपराज्यपाल के तमाम फैसलों को तार्किक ठहराती रही है। यह केजरीवाल की आप सरकार की जीत है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अब स्वयं को पीड़ित नहीं बता पाएंगे और न ही अपनी सरकार के प्रदर्शन के लिए […]

पूंजीवाद की जमीन पर लाल सलाम (दैनिक ट्रिब्यून)

अरुण नैथानी सहज विश्वास नहीं होता कि डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिका के पड़ोसी देश मेक्सिको में वामपंथी रुझान की सरकार सत्ता में आई है। मगर यह हकीकत है कि मेक्सिको की जनता ने आंद्रेस मेनुएल लोपेज़ ओब्राडोर को पहली बार लाल सलाम किया है जो अमेरिका के लिये भी चिंता का विषय हो सकता है। […]

गुड लोन-बैड लोन थेरेपी (दैनिक ट्रिब्यून)

विलास जोशी आजकल स्कूलों में छोटे बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में बताया जा रहा है, ताकि वे यह जान सकें कि किस अंकल का स्पर्श ‘गुड’ है और किसने उसे बुरी नीयत से स्पर्श किया है। सरकारी बैंकों में भी कुछ ऐसा ही सिलसिला चल पड़ा है। बैंकों से वितरित […]

Allies, interrupted: on India-U.S. ties (The Hindu)

There are enough signs that relations between India and the United States have suffered, with officials in both capitals now freely conceding that their interests are diverging. From the U.S. side, policy decisions by President Donald Trump to walk out of the multilateral nuclear deal with Iran, and the U.S. Congress’s CAATSA law sanctioning Iran […]

Passing the buck: on governments’ response to lynchings (The Hindu)

The Central government has finally moved to react to the lynchings reported from across the length and breadth of the country, but its line of action is bafflingly weak. Over the past couple of months, mobs have materialised to beat to kill people they suspect — almost always without basis — of plotting to kidnap […]

उच्च शिक्षा में नए प्रयोग से शिक्षाविद दूरगामी बनाम प्रतिगामी के रूप में विभाजित (दैनिक जागरण)

[ निरंजन कुमार ]: उच्च शिक्षा में सुधार को लेकर पिछले एक दशक से चल रही बहसों का एक निष्कर्ष यह रहा है कि इसमें एक क्रमबद्ध परिवर्तन की आवश्यकता है। शायद इसी के मद्देनजर भारत सरकार ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी को समाप्त कर उसकी जगह ‘भारतीय उच्च शिक्षा आयोग’ के गठन का […]

पीएम मोदी ने मगहर जाकर की कबीर पंथियों के दिलों में जगह बनाने की कोशिश (दैनिक जागरण)

[ बद्री नारायण ]: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महान संत कबीर के 620वें प्राकट्य दिवस एवं 500 वें निर्वाण दिवस पर उनकी निर्वाण स्थली मगहर गए। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 24 करोड़ रुपये की लागत से बनाई जा रही कबीर अंतरराष्ट्रीय अकादमी का शिलान्यास किया। इस अकादमी में संत कबीर के जीवन एवं दर्शन पर […]

ओबीसी आरक्षण के वर्गीकरण का कांग्रेस विरोध करके अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार रही है (दैनिक जागरण)

[ सुरेंद्र किशोर ]: संसद के मानसून सत्र में सरकार अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले विधेयक को नए सिरे से लाने की तैयारी में है। देखना है कि इस बार विपक्ष इस विधेयक पर क्या रवैया अपनाता है? यह सवाल इसलिए, क्योंकि कांग्रेस ने ओबीसी के 27 प्रतिशत आरक्षण के वर्गीकरण […]

निजी मेडिकल कॉलेजों का हाल (अमर उजाला)

सुभाषिनी सहगल अली कुछ दिन पहले ट्रेन में एक सज्जन से भेंट हुई, जो एक बहुत ही प्रतिष्ठित धर्मार्थ अस्पताल चलाने वाले ट्रस्ट के मुखिया हैं। वह डॉक्टरों के बदले हुए दृष्टिकोण के बारे में बता रहे थे। उन्होंने कहा कि निजी मेडिकल कॉलेजों से निकले डॉक्टर पैसे कमाने में सरकारी कॉलेजों से निकले डॉक्टरों […]

The price is right (The Indian Express)

Written by Ramesh Chand Since the beginning of the economic reforms in the early 1990s, the focus of agricultural policy has shifted towards prices. Farmers are losing faith in the market and seeking direct intervention by the government, mainly at the Centre. The situation has been aggravated by unanticipated increases in the domestic production of […]



संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016