Day: March 9, 2018

शांति से ही सधेंगे हित (प्रभात खबर)

मोहन गुरुस्वामी वरिष्ठ टिप्पणीकार mohanguru@gmail.com चीन के साथ भारत के विशिष्ट संबंधों के संदर्भ में भारत की जीडीपी वृद्धि दर चीन से आगे निकल जाने पर हमारे द्वारा खुशी और संतोष का इजहार स्वाभाविक है. मगर, एक अहम तथ्य की प्रायः अनदेखी कर दी जाती है कि दोनों देशों की अर्थव्यवस्थाएं अब विकास के दो […]

The North East is key for India’s ties with Asean (Livemint)

Anil Wadhwa India was host to all 10 leaders from the Association of Southeast Asian Nations (Asean) this January, to celebrate 25 years of a growing relationship through a commemorative summit with the grouping. Ever since India transformed its “Look East” policy to “Act East”, there have been continuous efforts to make this relationship result […]

Can Indians build world-class tech companies? (Livemint)

Apple co-founder Steve Wozniak’s recent comment doubting the creativity of Indians was ill-informed at best. But his criticism about the absence of companies making big advances in technology is indisputably true, sizable companies like Infosys Ltd and Tata Consultancy Services Ltd (TCS) notwithstanding. Out of the seven Indian companies that made it to 2017’s Fortune […]

Designing competition policies for the age of AI (Livemint)

Avinash M. Tripathi Recently, the Competition Commission of India (CCI) imposed a hefty penalty on Google for abusing its dominant position in the online search market. The company was accused of promoting its own verticals at the expense of its rivals. While the specifics of the case have received much attention, it has probably not […]

The ease of doing business comes with trade-offs (Livemint)

Kaushik Basu The World Bank’s annual “Doing Business” (DB) report is probably its most-cited publication. It is also the Bank’s most contentious, and with the release of Doing Business 2018 last October, the controversy surrounding the report has reached new heights, with some critics accusing it of obfuscation, data rigging, and political manipulation. I was […]

Time to tweak the bankruptcy code, again (Livemint)

Ravi Krishnan As the resolution deadline for some of the big distressed cases draws near, a few are heading towards closure but others are stuck. The Insolvency and Bankruptcy Code, touted as one of the great reforms of recent years, cannot succeed if cases are delayed or stuck because of different interpretations of the law. […]

भारत की नई चिंताएं (राष्ट्रीय सहारा)

इन दिनों अमेरिका एवं कई विकसित देश वस्तुओं एवं सेवाओं के आयात पर तरह-तरह के प्रतिबंध लगाकर नियंतण्र व्यापार युद्ध का नया चिंताजनक परिदृश्य निर्मित करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इससे भारत सहित विभिन्न विकासशील देशों की व्यापार चिंताएं बढ़ गई है। हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डनाल्ड ट्रंप ने निर्देश जारी किए […]

वैश्विक महाशक्ति बनने की महत्वाकांक्षा (दैनिक ट्रिब्यून)

रमेश नैयर क्या चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग सर्वशक्तिमान सम्राट के रूप में स्थापित हो गए हैं? यह प्रश्न दबी जुबान से चीन के भीतर और मुखरता के साथ विश्व के लोकतांत्रिक देशों में उठने लगा है। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की 19वीं कांग्रेस में 7-सदस्यीय पोलित ब्यूरो स्टैंडिंग कमेटी ने 1980 से चली आ रही […]

बराबरी की बात (दैनिक ट्रिब्यून)

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर सूचना माध्यमों में स्त्री  अस्मिता से जुड़े तमाम मुद्दों पर गंभीर विमर्श नजर आता है। सर्वेक्षणों की विश्वसनीयता व तौर-तरीकों को नजरअंदाज कर दें तो भी कोई स्पष्ट तस्वीर नजर नहीं आती। नि:संदेह महिलाओं की हैसियत में आजादी के बाद व्यापक बदलाव आया है। तरक्की के आंकड़ों की बात करें तो […]

पाकिस्तानी सीनेट में बेमिसाल कृष्णा (दैनिक ट्रिब्यून)

अरुण नैथानी ऐसा बहुत कम होता है जब पाकिस्तान से कोई सुकून भरी खबर आये। गाहे-बगाहे अल्पसंख्यकों की हत्या और लड़कियों को अगवा कर जबरन विवाह कराने की खबरें ही सुनने को मिलती हैं। ताजा खबर यह है कि थार के रेगिस्तानी इलाके की तपिश में तप कर कुंदन बनी कृष्णा पाक सीनेट के लिये […]



संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016