Day: October 7, 2019

रिजर्व बैंक का संकेत (नवभारत टाइम्स)

भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले हफ्ते रेपो रेट में लगातार पांचवीं बार कटौती करते हुए उसे 5.15 फीसदी पर ला दिया, जो पिछले 9 वर्षों में सबसे कम है। रेपो रेट वह ब्याज दर है जिस पर रिजर्व बैंक देश के सभी व्यापारिक बैंकों को लोन देता है। खास बात यह है कि पिछली कटौतियों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

देख कांग्रेस की दीन दशा विधानसभा चुनावों के पहले हरियाणा और महाराष्ट्र के जुझारु युवा नेता रोए (दैनिक जागरण)

चुनावों के पहले राजनीतिक दलों में हलचल देखने को मिलती ही है, लेकिन हरियाणा और महाराष्ट्र में विधानसभा चुनावों के पहले कांग्रेसी नेताओं के बीच जैसी उठापटक देखने को मिल रही है वह अभूतपूर्व है। एक ओर जहां हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने टिकट बंटवारे से नाराज होकर पार्टी छोड़ दी वहीं...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कश्मीर में फिर सिर उठाते आतंकी, पाकिस्तान कश्मीर का माहौल बिगाड़ने की ताक में है (दैनिक जागरण)

कश्मीर में अनंतनाग के जिला उपायुक्त कार्यालय पर ग्रेनेड हमला यही बता रहा है कि तमाम सतर्कता के बावजूद आतंकियों के दुस्साहस का दमन नहीं हो सका है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद यह दूसरा आतंकी हमला है। इस हमले में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हुए, जिनमें तीन की हालत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मातृ शक्ति का सम्मान करें (प्रभात खबर)

आशुतोष चतुर्वेदी प्रधान संपादक, प्रभात खबर भारतीय परंपरा में महिलाओं को उच्च स्थान दिया गया है. हम लोगों ने नौ दिनों तक नारी स्वरूपा देवी की उपासना की और उन्हें पूजा है. कई राज्यों में कन्या जिमाने और उनके पैर पूजने की भी परंपरा है. एक तरह से यह त्योहार नारी के समाज में महत्व...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

गांधी-मार्ग और एमजी रोड (प्रभात खबर)

रविभूषण वरिष्ठ साहित्यकार भारत ही नहीं, बाहर के कई देशों में भी महात्मा गांधी के नाम पर एक मार्ग है, जो अपने देश में एमजी रोड के नाम से जाना जाता है. महाराष्ट्र में यह सर्वाधिक है- 12 और नीदरलैंड में ऐसे मार्गों की संख्या 28 है. दक्षिण अफ्रीका में गांधी के नाम के रोड...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संपादकीय: घटना और सबक (जनसत्ता)

इस साल बालाकोट में पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों पर हमले के अगले दिन यानी सत्ताईस फरवरी को भारतीय वायुसेना ने अपनी ही मिसाइल से अपना एमआइ-17 हेलिकॉप्टर मार गिराया था। यह घटना गफलत का परिणाम थी। हालांकि तब पाकिस्तान ने दावा किया था कि उसने भारत का एक हेलिकॉप्टर मार गिराया है, लेकिन बाद में...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संपादकीय: संबंधों का विस्तार (जनसत्ता)

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना चार दिन की भारत यात्रा पर हैं। शनिवार को उन्होंने हमारे प्रधानमंत्री से मुलाकात और विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की। इस दौरान कई मसलों पर समझौते भी हुए, जिनमें शांति और सुरक्षा के क्षेत्र में दोनों देशों ने अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की। शेख हसीना की यह भारत यात्रा कई मामलों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

गांधी जी के वारिस: आखिर असली कौन हैं? (अमर उजाला)

तवलीन सिंह गांधी जी को अपनाने की जितनी कोशिश इस बार उनकी जयंती पर हमारे राजनेताओं ने की है, उतनी कोशिश कभी पहले देखने को नहीं मिली। साबरमती आश्रम से प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि देते हुए स्वच्छ भारत अभियान द्वारा देश के हर जिले में खुले में शौच समाप्त होने की सूचना दी। इस...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आपसी रिश्तों का स्वर्णिम अध्याय, इधर एनआरसी से उपजे भय और चिंता (अमर उजाला)

महेंद्र वेद भारत के दौरे पर आईं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के स्वागत समारोह में विभिन्न देशों के दिल्ली स्थित करीब 80 राजदूतों ने शिरकत की। यह न केवल मेजबान बांग्लादेश उच्चायोग के लिए एक सही जनसंपर्क अभियान बन गया, बल्कि इसने भारत-बांग्लादेश के बेहतर रिश्तों को भी प्रदर्शित किया। शेख हसीना के लिए...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

नई जमीन : देश के बहुमुखी विकास के लिए महात्मा गांधी ने गांवों पर जोर क्यों दिया (अमर उजाला)

अनिल प्रकाश जोशी गांधी का महत्व आज भी बराबर है। देश को ब्रिटिश राज से मुक्त काने वाले स्वतंत्रता आंदोलन में गांधी को उनके योगदान के लिए हमेशा याद किया जाता रहा है। पर उनसे जुड़े कई और पहलू भी हैं, जिनकी आज ज्यादा आवश्यकता है। आज भी गांधी के विचारों की प्रासंगिकता उतनी ही...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register