चीन की सरपरस्ती में आतंकी सरगना मसूद (दैनिक ट्रिब्यून)


पुष्परंजन पन्द्रह दिन पहले बूझेन में सुषमा स्वराज चीनी विदेशमंत्री वांग यी से मिली थीं। 27 फरवरी 2019 को रूस, चीन और भारतीय विदेशमंत्रियों ने बैठक कर ‘मैच्योर डिप्लोमेसी’ करने का संकल्प किया था। यह बैठक पुलवामा हमले के बाद हुई थी। यहां क्षेत्रीय शांति व विकास के वास्ते आपसी संवाद को सबसे कारगर उपाय…


This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register


Updated: March 15, 2019 — 12:52 PM