सबरीमाला प्रकरण पर कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व का रवैया स्थानीय इकाई से अलग क्यों है? (दैनिक जागरण)

[ बलबीर पुंज ]: बीते दिनों केरल की सड़कों पर विरोध-प्रदर्शन के बाद सबरीमाला मंदिर का मामला संसद में गूंजा। इसे लेकर अब तक कांग्रेस का जैसा रुख रहा है वह अपने गर्भ में कई प्रश्नों के उत्तर समेटे हुए है। केरल में वामपंथियों और कांग्रेस का ही राजनीतिक वर्चस्व रहा है। मुख्यमंत्री पी विजयन…

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register
Updated: January 8, 2019 — 7:26 AM