ताकि मिले बढ़ती आबादी का फायदा (हिन्दुस्तान)


सुरेश शर्मा, प्रोफेसर और प्रमुख पॉपुलेशन रिसर्च सेंटर देश-दुनिया की तमाम सरकारों और नीति-निर्माताओं के लिए आज यह याद करने का दिन है कि जनसंख्या और उससे जुड़े मसलों का हल उनकी विकास-नीतियों के मूल में होना चाहिए। भारतीय संदर्भ में देखें, तो 1920 के दशक तक हमारे हिस्से में अत्यधिक जन्म-दर और मृत्यु-दर रही…


This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register


Updated: July 12, 2019 — 8:40 PM