Help Sampadkiya Team in maintaining this website

इस वेबसाइट को जारी रखने में यथायोग्य मदद करें -

-Rajeev Kumar (Editor-in-chief)

Tuesday, March 16, 2021

‘हनी ट्रैप का घिनौना खेल’‘पहले अश्लील बातें फिर वीडियो कॉल’ (पंजाब केसरी)

देश में पिछले कुछ समय से पाकिस्तान की गुप्तचर एजैंसी आई.एस.आई. प्रशिक्षित खूबसूरत महिलाओं का इस्तेमाल कर रही है जो भारतीय सुरक्षा बलों के चंद सदस्यों को अपने रूप और यौवन का शिकार बनाकर भारत की गुप्त सूचनाएं प्राप्त करती हैं जिसे ‘हनी ट्रैप’ कहते हैं।

देश में पिछले कुछ समय से पाकिस्तान की गुप्तचर एजैंसी आई.एस.आई. प्रशिक्षित खूबसूरत महिलाओं का इस्तेमाल कर रही है जो भारतीय सुरक्षा बलों के चंद सदस्यों को अपने रूप और यौवन का शिकार बनाकर भारत की गुप्त सूचनाएं प्राप्त करती हैं जिसे ‘हनी ट्रैप’ कहते हैं। उनकी देखादेखी भारत में भी ‘हनी ट्रैप’ गिरोहों में शामिल महिलाओं द्वारा लोगों से फोन पर अश्लील बातें करके उन्हें अपने जाल में फंसा कर होटलों आदि में बुला कर या वीडियो काल द्वारा उनके अश्लील चित्र खींच कर ब्लैकमेल करने का सिलसिला शुरू हो गया है जिसके चंद उदाहरण निम्र में दर्ज हैं : 

* 18 सितम्बर, 2020 को पाकिस्तानी सेना के लिए जासूसी करने के आरोप में मिलिट्री इंजीनियरिंग विंग के जयपुर में तैनात एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया। यह कर्मचारी पाकिस्तान की एक महिला के संपर्क में था तथा काफी समय से उसे गुप्त सूचनाएं दे रहा था। 
* 31 अक्तूबर को चैट के जरिए एक पाकिस्तानी युवती के संपर्क में आकर वहां की एजैंसी को भारतीय सेना सम्बन्धी सूचना भेजने में संलिप्त सेना कार्यालय, निवारू (जयपुर) का एक चालक (सिविलियन) पकड़ा गया।
* 19 फरवरी, 2021 को लखनऊ में पुलिस ने एक डाक्टर को पीटने, निर्वस्त्र कर उसका वीडियो बनाने और वायरल करने की धमकी देकर 10 लाख रुपए रंगदारी मांगने के आरोप में 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया जबकि देर रात फोन पर डाक्टर से अश£ील बातें करके उसे लुभाने वाली युवती फरार है। 

* 28 फरवरी को ‘हनी ट्रैप’ का एक मामला पानीपत में सामने आया। एक युवती पहले तो एक युवक को अपने प्रेम जाल में फंसा कर उसके साथ कई जगह घूमती और सैर-सपाटा करती रही। जब युवक ने उसे अपने साथ घर बसाने को कहा तो उसने युवक से 15 लाख रुपए मांगे और मना करने पर उसके विरुद्ध बलात्कार का केस दर्ज करवा दिया।
* 2 मार्च को महाराष्ट्र पुलिस ने राज्य के पांच जिलों में अमीर लोगों को अपने ‘हनी ट्रैप’ में फंसा कर ब्लैकमेल करने के आरोप में एक गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार किया जिनमें एक युवती भी शामिल है। 
ये लोग पहले अपने शिकार को अपने गिरोह की महिला सदस्य से अश्लील फोन करवाते और फिर अपने जाल में फंसा कर उसके अश£ील फोटो आदि खींच कर ब्लैकमेल करते थे।

* 11 मार्च को जोधपुर के ‘बोरनाडा’ थाना इलाके में ‘हनी ट्रैप’ के एक मामले में एक व्यापारी को बंधक बनाकर उसे निर्वस्त्र करने के बाद उसका अश्लील वीडियो बनाने और 50 लाख रुपए मांगने के आरोप में एक महिला और उसके साथियों के विरुद्ध केस दर्ज किया गया जबकि दूसरी ओर उल्टे महिला ने व्यापारी के विरुद्ध बलात्कार का मामला दर्ज करवा दिया। 
* 13 मार्च को व्हाट्सएप पर वीडियो काल करके मुम्बई के ‘नालासोपारा’ इलाके में रहने वाले एक युवक का  वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उससे 50,000 रुपए की मांग करने के आरोप में दिल्ली की एक युवती के विरुद्ध केस दर्ज किया गया। 
* 14 मार्च को राजस्थान के सीकर में लक्ष्मणगढ़ के रहने वाले सैनिक आकाश महरिया (22) को एक पाकिस्तानी महिला एजैंट के ‘हनी ट्रैप’ में फंस कर उसे गुप्त जानकारी देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
बताया जाता है कि यह पाकिस्तानी महिला एजैंट सोशल मीडिया के माध्यम से उसे अपने जाल में फंसाने के लिए निर्वस्त्र होकर वीडियो काल करके उससे अश्लील बातें करती थी। 

* 14 मार्च को ही जबलपुर का एक युवा व्यापारी ‘हनी ट्रैप’ का शिकार हो गया। एक युवती ने उससे कहा कि यदि वह उसे निर्वस्त्र होकर वीडियो काल करेगा तो वह भी अपने पूरे कपड़े उतार देगी। युवती के झांसे में आए व्यापारी ने कपड़े उतारे और अपनी सीमा लांघ कर उससे बातें करने लगा जिसका वीडियो बनाकर आरोपियों ने उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। उक्त घटनाओं से स्पष्ट है कि जहां पाकिस्तान की गुप्तचर एजैंसी आई.एस.आई. भारतीय सुरक्षा बलों के सदस्यों को ‘हनी ट्रैप’ के जरिए अपने जाल में फंसाकर सूचनाएं निकालने के लिए महिलाओं को विशेष रूप से प्रशिक्षण दे रही है, वहीं अब पाकिस्तान की देखादेखी भारत में सक्रिय ‘हनी ट्रैप’ गिरोह लोगों को चिकनी-चुपड़ी बातों में फंसा कर उनके अश्लील फोटो आदि खींच कर उन्हें ब्लैकमेल कर रहे हैं। 

कुछ समय पूर्व भारतीय सेना ने ऐसे 150 प्रोफाइलों का पता लगाया था जिनकी सहायता से पाकिस्तान खूबसूरत महिलाओं के माध्यम से भारतीय सेना के सदस्यों को अपने ‘हनी ट्रैप’ में फंसा कर उनसे भारत की गुप्त जानकारियां प्राप्त करने की कोशिश कर रहा था। कुल मिलाकर ‘हनी ट्रैप’ का यह घिनौना खेल भारतीय सेना के साथ-साथ आम नागरिकों को भी अपना शिकार बना रहा है जिससे बचने के लिए लोगों को सजग होने की जरूरत के साथ-साथ ऐसे कामों में शामिल लोगों के लिए कड़े दंड की व्यवस्था करना समय की जरूरत है।—विजय कुमार 

सौजन्य - पंजाब केसरी।

Share:

Help Sampadkiya Team in maintaining this website

इस वेबसाइट को जारी रखने में यथायोग्य मदद करें -

-Rajeev Kumar (Editor-in-chief, Sampadkiya.com)

0 comments:

Post a Comment

Copyright © संपादकीय : Editorials- For IAS, PCS, Banking, Railway, SSC and Other Exams | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com