होना एक औद्योगिक घराने के मालिक का बेटे के हाथों मोहताज! (पंजाब केसरी)

अपनी गृहस्थी बन जाने के बाद अधिकांश संतानें अपने बुजुर्गों से उनकी जमीन-जायदाद अपने नाम लिखवाकर अपने माता-पिता की ओर से आंखें फेर कर उन्हें अपने हाल पर अकेला छोड़ देती हैं। इसीलिए हम अपने लेखों में बार-बार यह लिखते रहते हैं कि माता-पिता अपनी सम्पत्ति की वसीयत तो कर दें परन्तु उसे ट्रांसफर न […]

साझा विपक्ष के लिए (हिन्दुस्तान)

दो साल पहले बिहार विधानसभा चुनाव के समय विपक्षी एकता के जरिये मैदान मार लेने का जो प्रयोग बिहार में हुआ था, वह अब परास्त हो चुका है। उस समय गैर-भाजपाई दलों ने एक साथ खड़े होकर भाजपा को मात देने में जो सफलता हासिल की थी, उस एकता के नायक नीतीश कुमार अब पटना […]

चीन की महत्वाकांक्षा से विचलित न हों (हिन्दुस्तान)

शशांक, पूर्व विदेश सचिव चीन और भारत का तनाव इन दिनों सुर्खियों में है। कभी सीमाओं पर अतिक्रमण करके, तो कभी धौंस दिखाकर, तो कभी भूटान, नेपाल जैसे हमारे पड़ोसी देशों में अतिक्रमण करके चीन अपनी विस्तारवादी नीति को गति देने में जुटा है। ऐसा लगता है कि उसने छोटे राष्ट्रों पर यह दबाव बना […]

गोरखपुर डीएम की रिपोर्ट के आधार पर पूरी जांच हो (दैनिक भास्कर)

गोरखपुर के जिला मजिस्ट्रेट ने बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई बंद होने से हुई बच्चों की मौत पर जो रपट दी है उसमें उन तमाम तथ्यों को स्वीकार किया है जिस ओर स्थानीय और राष्ट्रीय मीडिया आरंभ में उंगली उठा रहा था और उत्तर प्रदेश का शासन जिसे खारिज कर रहा था। […]

India at 70: how are we doing? (Livemint)

Sudipto Mundle ndia is observing several milestones that are nested one into another. The Modi government completed three years of its term in May earlier this year. July marked the completion of 26 years of economic reforms. The 15th of August earlier this week marked the 70th anniversary of our independence. In 1947, there were […]

Breaking the shell of tax evaders (Livemint)

In his Independence Day address to the nation from the ramparts of Red Fort, Prime Minister Narendra Modi declared that the government has identified 300,000 shell companies, out of which the registration of 175,000 companies has been cancelled. The Prime Minister also highlighted that some 400 companies were being run from the same address. These […]

Make-work schemes need to come back (Livemint)

Jared Dillian Many assume that universal basic income will be one of Mark Zuckerberg’s policy platforms when he runs for president. The volume has been turned up to 11 on such speculation since his Harvard commencement speech back in May. In summary, he said people think our labour force has been altered structurally by automation, […]

The costly failure of the South Asian judiciary (Livemint)

It is widely recognized that judicial independence is an important prerequisite in the making of a successful democracy. India is rather fortunate on this count. Beyond the brief period of Emergency (1975-77), the independence of the judiciary has largely not been under suspicion. This is a great, even if often understated, achievement of India’s journey […]

Complex truths about colonial India’s economy (Livemint)

Sidin Vadukut When British economist Angus Maddison died in 2010, The Economist magazine published a charming obituary of this giant of the field of “quantitative macroeconomic history”. “Given the length and depth of his career,” the obit read, “it is tempting to say that this intellectual influence is impossible to measure. But that would be […]

मुसीबत की बाढ़ (जनसत्ता)

इस साल फिर देश के कई राज्य भीषण बाढ़ की चपेट में हैं और उन इलाकों में रहने वाले लाखों लोग जिंदा रहने की चुनौती से दो-चार हैं। बिहार, पश्चिम बंगाल, असम और उत्तर प्रदेश सहित आठ राज्यों में बाढ़ का कहर जितना कुदरती है उससे ज्यादा यह सरकारों के काम करने के तरीके, पूर्व […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016