नक्सली नासूर (दैनिक ट्रिब्यून)

एक बार फिर माओवाद प्रभावित दंतेवाड़ा में नक्सलवादियों द्वारा किये गये भीषण विस्फोट में सुरक्षा बलों के सात जवान मारे गये। यह घटना तब हुई जब गृहमंत्री राजनाथ सिंह को इलाके का दौरा करना था। मुख्यमंत्री रमन सिंह विकास यात्रा निकालने जा रहे थे। सुरक्षा बलों के जवान एक निर्माणाधीन सड़क की सुरक्षा चौकसी में थे। […]

जैव विविधता से है हमारा जीवन (दैनिक ट्रिब्यून)

अनिल प्रकाश जोशी पृथ्वी ग्रह की असीम प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष गतिविधियों को समझने में हम पूरी तरह से फेल हो चुके हैं। हमने अपनी केन्द्रीय भूमिका इसी रूप में निभाई कि किस तरह से पृथ्वी पर मनुष्य बेहतर जीवनयापन कर सकता है और ऐसा करते हुए हम अन्य जीवों व प्राणियों की भूमिका को आंकने […]

साख पर दाग (दैनिक ट्रिब्यून)

देहरादून से आई युवती के साथ मुख्य मार्ग पर दुराचार की कोशिश ने उस आम धारणा को तोड़ा है कि नाइट शिफ्ट ड्यूटी में भी दिन की तरह गुलजार रहने वाले चंडीगढ़ की सड़कों पर महिलाएं सुरक्षित रहती हैं। सर्वाधिक पुलिस फोर्स वाली राजधानियों में शुमार चंडीगढ़ में ये घटनाएं कई सवाल पैदा करती हैं। […]

घाटे पर नियंत्रण से विकास दर भी बढ़े (दैनिक ट्रिब्यून)

भरत झुनझुनवाला सरकार आय से अधिक खर्च करने के लिए बाजार से ऋण उठाती है। इस ऋण को वित्तीय घाटा कहा जाता है। विदेशी निवेशक वित्तीय घाटे को अच्छा नहीं मानते। वे मानते हैं कि यदि सरकार अपनी आय से अधिक खर्च कर रही है तो यह गैर जिम्मेदाराना नीतियां हैं और आने वाले समय […]

Miles to go for the new bankruptcy code (The Hindu)

Good news has finally started to roll out of the refurbished bankruptcy courts. Tata Steel acquired 73% stake in the bankrupt firm Bhushan Steel for about ₹35,000 crore last week, making it the first major resolution of a bankruptcy case under the new Insolvency and Bankruptcy Code (IBC). Bhushan Steel was one among the 12 […]

Victory amid violence: on West Bengal panchayat elections (The Hindu)

The exact scale of the ruling Trinamool Congress’s victory in the May 14 panchayat elections in West Bengal is still a matter of conjecture, as the fate of the uncontested seats is before the Supreme Court. The next hearing is on July 3. The Opposition, comprising mainly the Left Front and the Bharatiya Janata Party, […]

The fruits of defeat: on Karnataka government formation (The Hindu)

After the fractured verdict in Karnataka and the hastily concluded post-poll marriage of convenience between the Congress and the Janata Dal (Secular), the Bharatiya Janata Party had the option of taking the high moral ground as the single largest party that was thwarted by the opportunistic politics of its rivals. Instead, the BJP chose to […]

चीनी उद्योग को उबारने की जरूरत (दैनिक जागरण)

[केसी त्यागी]। बीते दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा चीनी उद्योग को दी जाने वाली सहायता राशि की घोषणा से मिल मालिकों को राहत सी महसूस हुई है। इसमें किसानों को साढ़े पांच रुपये प्रति क्विंटल की दर से सब्सिडी भुगतान किए जाने का निर्णय लिया गया है। इस फैसले के अनुसार किसानों द्वारा मिलों में बेचे […]

अंकगणित मात्र नहीं है जनतंत्र (दैनिक जागरण)

[हृदयनारायण दीक्षित]। लोकतंत्र भारतीय प्रकृति है। भारत के लोगों की जीवन शैली। संविधान निर्माताओं ने ब्रिटिश संसदीय शासन पद्धति का अनुसरण किया। संसदीय पद्धति में बेशक अंकगणित की महत्ता है, लेकिन वास्तविक जनतंत्र अंकगणित नहीं बीजगणित से फलीभूत होता है। अटल बिहारी वाजपेयी ने ठीक कहा था कि लोकतंत्र 51 बनाम 49 का खेल नहीं […]

पिछले दरवाजे से सत्ता में (अमर उजाला)

तवलीन सिंह ऐसा पहली बार हुआ होगा कि आईपीएल के मौसम में देशवासियों ने क्रिकेट मैच देखने का मजा त्याग कर राजनीतिक समाचारों पर अधिक ध्यान दिया। इनमें मैं भी थी। कर्नाटक के परिणाम आने और येदियुरप्पा के शपथ लेने तक मैं टीवी के सामने बैठी रही, जैसे कोई बहुत ही दिलचस्प क्रिकेट मैच देखा […]

Loading...
संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016