Category: इसे भी जानें

कड़वा सच हमेशा लगता है बुरा (पत्रिका)

सच, जब एक बच्ची बोलती है…. उसे बुरा लगता है तो हम बड़ों का सिर शर्म से झुक जाता है। वो एक बच्ची ही तो है, लेकिन अपनी मासूम बोली से कड़वा सच बोल हम बड़ों को सोचने के लिए मजबूर कर देती है। अभी इंदौर में एक सार्थक कार्यक्रम का आयोजन था (बच्चियों के […]

व्यवसाय व आय ही पिछड़ेपन का आधार (पत्रिका)

– सत्यनारायण सिंह, पूर्व प्रशासक संविधान निर्माताओं ने समाज में व्याप्त असमानता को देखते हुए यह प्रावधान किया था कि राज्य सामाजिक और शैक्षणिक दृष्टि से पिछड़े वर्गों की उन्नति के लिए विशेष उपबंध कर सकता है। इसके तहत जिन वर्गों का प्रतिनिधित्व राज्य सेवाओं में पर्याप्त नहीं है उनकी नियुक्तियां व पदों में आरक्षण […]

भारत में वामपंथी उसी सड़ी-गली विचारधारा से आज भी क्यों बंधे हुए (दैनिक जागरण)

नई दिल्ली [बलबीर पुंज]। जर्मन दार्शनिक और वैज्ञानिक समाजवाद के प्रणेता कार्ल मार्क्स को उनकी 200वीं जयंती पर भारत सहित दुनिया भर में स्मरण किया जा रहा है। पांच मई, 1818 को एक यहूदी परिवार में जन्मे और छह वर्ष की आयु में ईसाई धर्म अपनाने वाले माक्र्स ने अपने जीवनकाल में जिस साम्यवादी दर्शन […]

Resolve for the river (The Indian Express)

On Thursday, Union water resources minister Nitin Gadkari made two important announcements. He said that the government will “try to ensure improvement” in the Ganga’s “water quality by 70 to 80 per cent by March 2019”. If his ministry attains this target, it would have fulfilled a major promise in the BJP’s manifesto for the […]

Resolve for the river (The Indian Express)

On Thursday, Union water resources minister Nitin Gadkari made two important announcements. He said that the government will “try to ensure improvement” in the Ganga’s “water quality by 70 to 80 per cent by March 2019”. If his ministry attains this target, it would have fulfilled a major promise in the BJP’s manifesto for the […]

गुनहगार पकड़े जाएं (राष्ट्रीय सहारा)

हैदराबाद की मक्का मस्जिद में 11 वर्ष पहले हुए विस्फोटों में एनआईए की विशेष न्यायालय द्वारा आरोपितों को बरी किया जाना कोई सामान्य फैसला नहीं है। एक लंबे समय तक देश में संगठित हिन्दू आतंकवाद का जो भय पैदा किया गया और कई आतंकवादी हमलों को उससे जोड़कर देखा गया उसे यह फैसला गलत साबित […]

Remember Kathua’s Asifa by her name (The Hindu)

The horror and sheer depravity of the rape and murder of Asifa Bano, an eight-year-old girl in Rasana village of Kathua district in Jammu, has left the nation sickened. In a country where rapes, even rapes of minors, tend to be seen as ‘tragic incidents’ that are quickly ‘normalised’, the gruesome and calculated violence wrought […]

जानिए, सर्वदल समभाव के प्रति समर्पित जनसेवक बोलते नहीं बयान देते हैं (दैनिक जागरण)

नई दिल्ली [ संतोष त्रिवेदी ]। बचपन से सुनते आए हैं कि सेवा में ही मेवा होता है। अब उसका प्रत्यक्ष दर्शन भी हो रहा है। लोग सेवा करने के लिए टूट पड़ रहे हैं। उन्हें ही देखिए, लंबी छलांग लगाई है। वे पक्के जनसेवक ठहरे, इसीलिए एक जगह नहीं ठहरते। न किसी खूंटे से […]

पहाड़ पर भारी पड़ती सड़क (अमर उजाला)

सुरेश भाई आजकल चारधाम-गंगोत्री, यमनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ मार्गों पर हजारों वन प्रजातियों के ऊपर पहाड़ टूटने लगे हैं। ऋषिकेश से आगे देवप्रयाग, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, अगस्तमुनि, गुप्तकाशी, फाटा, त्रिजुगीनारायण, गौचर, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, चमोली, पीपलकोटी, हेंलग से बदरीनाथ तक हजारों पेड़ों का सफाया हो गया है। ‘ऑल वेदर रोड’ के नाम पर 43 हजार पेड़ काटे […]

कॉरपोरेट और किसान में फर्क क्यों (अमर उजाला)

देविंदर शर्मा पंजाब के बठिंडा में एक किसान को एक साल की जेल की सजा सुनाई गई और उस पर दो लाख रुपये का जुर्माना भी किया गया। उसकी गलती बस यह थी कि वह बैंक से लिया दो लाख रुपये का कर्ज नहीं लौटा सका था। कुछ हफ्ते पहले हरियाणा के एक किसान को […]



संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016