Day: June 13, 2018

महाराजा से निवेशकों की तौबा के बाद (हिन्दुस्तान)

हर्षवर्द्धन पूर्व प्रबंध निदेशक वायुदूत रणनीतिक विनिवेश के तहत केंद्र सरकार द्वारा अपनी 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने और 25 हजार करोड़ रुपये की कर्ज-माफी की गारंटी देने के बावजूद एअर इंडिया को कोई खरीदार नहीं मिला। सरकार इस बारे में कहीं ज्यादा आशान्वित थी और मानकर चल रही थी कि कई बड़े खरीदार इसमें रुचि […]

संपादकीयः कमाल की मिसाल (जनसत्ता)

कचरे को र्इंधन के रूप में कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है, इंदौर नगर निगम इसकी मिसाल बन गया है। नगर निगम ने फल-सब्जियों के कचरे से बायो-सीएनजी गैस तैयार की और इससे सिटी बसें व ऑटो जैसे वाहन चलाने में कामयाबी हासिल कर ली। प्रयोग के तौर पर दो सिटी बसें और बीस ऑटो […]

संपादकीयः मंजिल और मुकाम (जनसत्ता)

बरसों से उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम घोर विवाद का विषय और खासकर दक्षिण कोरिया, यूरोप और अमेरिका के लिए सिरदर्द बना रहा है। इसलिए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन की मुलाकात, बातचीत और सहमति एक ऐतिहासिक घटना है। इस मौके पर दोनों नेताओं के बीच जो सहमति […]

न्यायिक नियुक्तियों का प्रश्न (नईदुनिया)

न्यायिक नियुक्तियों पर केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का यह बयान कोलेजियम के अनसुलझे सवाल को नए सिरे रेखांकित करता है कि कानून मंत्रालय महज पोस्ट ऑफिस नहीं है। कानून मंत्री का यह बयान कांग्रेस की उस आलोचना के जवाब में आया है, जिसमें यह आरोप लगाया गया था कि सरकार न्यायाधीशों की नियुक्ति में […]

क्षेत्रीय सहयोग के नए आयाम की ओर – डॉ. रहीस सिंह (नईदुनिया)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों चीन के क्विंगदाओं में संपन्न् शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के 18वें शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के साथ-साथ एससीओ देशों के राष्ट्राध्यक्षों/सरकार प्रमुखों से द्विपक्षीय बातचीत भी की, जिसमें मेजबान चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ उनकी बैठक सर्वाधिक अहम रही। हालांकि पाकिस्तान के राष्ट्रपति से मोदी ने […]

भारत की विदेश नीति सशक्त (प्रभात खबर)

II आलोक कु. गुप्ता II एसोसिएट प्रोफेसर, दक्षिण बिहार केंद्रीय विवि akgalok@gmail.com प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विगत अप्रैल में वुहान (चीन) और फिर मई में सोची (रूस) की यात्रा की. दोनों यात्राएं भारत की विदेश नीति में एक नये राजनय की शुरुआत थी. यह राजनय थी ‘अनौपचारिक शीर्ष मुलाकात’ की. इन दो मुलाकातों में विदेश […]

सत्ता की आस में लुटे दलित (राष्ट्रीय सहारा)

बाबा साहेब डॉ. अम्बेडकर ने सत्ता को वह कुंजी बताई थी, जिससे सारे ताले खुल जाते हैं। उस समय की परिस्थितियों के अनुसार काफी हद तक सत्ता सभी क्षेत्रों को नियंत्रित करती थी, लेकिन अब परिस्थितियां बदल गई हैं। वोल्सेविक क्रांति के बाद दुनिया के तमाम देश साम्यवादी होते जा रहे थे और वहां राजसत्ता […]

Historic handshake — on Trump-Kim summit (The Hindu)

The historic summit between U.S. President Donald Trump and North Korean leader Kim Jong-un in Singapore is an affirmation of the power of diplomacy. Until a few months ago, the two countries had been trading nuclear threats, as the North raced along with its nuclear weapons programme. Now, as Mr. Trump shook hands with Mr. […]

Ethics first — on TN organ transplant allocations (The Hindu)

Transplantation of human organs is today a mature programme in many States, making it possible for people with kidney, liver, heart and lung failure to extend their lives. Heart and lung transplants are expensive and less widely available, compared with kidney and liver procedures. State governments, which have responsibility for health care provision, are expected […]

कश्मीर में संघर्ष विराम का भविष्य (दैनिक जागरण)

[दिव्य कुमार सोती]। जम्मू-कश्मीर में रमजान के दौरान केंद्र सरकार की ओर से घोषित एकतरफा संघर्ष विराम की करीब आधी अवधि बीत चुकी है। हालांकि केंद्र सरकार ने इसे आतंकरोधी अभियानों के स्थगन की संज्ञा दी है, लेकिन है यह एक तरह का संघर्ष विराम ही। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती इस संघर्ष विराम को रमजान के […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016