Day: March 6, 2018

आधी-अधूरी स्वायत्तता से साख को आंच (दैनिक ट्रिब्यून)

विश्वनाथ सचदेव वर्ष 1984 में जब इंदिरा गांधी की हत्या हुई थी, उनके पुत्र राजीव गांधी बंगाल में किसी दूरदराज इलाके में थे। जब उन्हें यह सूचना मिली तो कहते हैं कि उन्होंने तत्काल रेडियो बीबीसी लगाकर सूचना की पुष्टि की थी। इस बात को बीबीसी की विश्वसनीयता के एक उदाहरण के रूप में याद […]

The next best: on Mayawati’s support to SP (The Hindu)

If politics is the art of the next best, then Bahujan Samaj Party chief Mayawati is slowly becoming adept at it. She has been averse to pre-poll alliances, opting instead for post-poll tie-ups with either the Bharatiya Janata Party or the Samajwadi Party, depending on the nature of the electoral outcome. For her to now […]

पहाड़ पर भारी पड़ती सड़क (अमर उजाला)

सुरेश भाई आजकल चारधाम-गंगोत्री, यमनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ मार्गों पर हजारों वन प्रजातियों के ऊपर पहाड़ टूटने लगे हैं। ऋषिकेश से आगे देवप्रयाग, श्रीनगर, रुद्रप्रयाग, अगस्तमुनि, गुप्तकाशी, फाटा, त्रिजुगीनारायण, गौचर, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, चमोली, पीपलकोटी, हेंलग से बदरीनाथ तक हजारों पेड़ों का सफाया हो गया है। ‘ऑल वेदर रोड’ के नाम पर 43 हजार पेड़ काटे […]

काबुल में अमेरिकी रणनीति (अमर उजाला)

अफगानिस्तान के मौजूदा संगीन हालात को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि वह अमेरिका के नियंत्रण से बाहर होता जा रहा है। तालिबान जहां चाहते हैं, वहां हमला कर देते हैं। देश के 70 प्रतिशत इलाके पर तालिबान का, जबकि केवल 30 प्रतिशत क्षेत्र पर सरकार का नियंत्रण रह गया है। विगत 24 फरवरी […]

समाज-पोषित शिक्षा व्यवस्था को अंग्रेजी शासन द्वारा विधिपूर्वक तहस-नहस किया गया (दैनिक जागरण)

नई दिल्ली [ गिरीश्वर मिश्र ]। भारत में शिक्षा को एक राम बाण औषधि के रूप में हर मर्ज की दवा मान लिया गया और उसके विस्तार की कोशिश शुरू हो गई बिना यह जाने-बूझे कि इसके अनियंत्रित विस्तार के क्या परिणाम होंगे? सामाजिक परिवर्तन की मुहिम शुरू हुई और भारतीय समाज की प्रकृति को […]

काबुल में अमेरिकी रणनीति (अमर उजाला)

कुलदीप तलवार अफगानिस्तान के मौजूदा संगीन हालात को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि वह अमेरिका के नियंत्रण से बाहर होता जा रहा है। तालिबान जहां चाहते हैं, वहां हमला कर देते हैं। देश के 70 प्रतिशत इलाके पर तालिबान का, जबकि केवल 30 प्रतिशत क्षेत्र पर सरकार का नियंत्रण रह गया है। विगत […]

सक्षम ग्राम का सपना (अमर उजाला)

आर विक्रम सिंह सक्षम ग्राम! यह एक परिकल्पना है। ऐसे ग्राम, जो अपने ग्राम्य समाज की व्यवस्थाएं स्वयं अपने संसाधनों से कर सकें। यह विचार हमें स्वाभाविक रूप से आत्मनिर्भरता और ग्राम सशक्तिकरण की दिशा में ले जाता है। ट्रैक्टरों ने बैलों के साथ-साथ खेत मजदूरों को भी बेरोजगार कर दिया। बैल इधर-उधर खेतों में […]

Keep The Polls Apart (The Indian Express)

Written by P B Sawant India is a federal state with its constituting units, the states, having the autonomy of governance in the subjects specified by the Constitution. Federalism is one of the basic features of the Constitution. The constitution of legislative assemblies and formation of state governments are autonomous functions. The Union government cannot […]

The 3:59.4 Mile Mark (The Indian Express)

On a blustery day in Oxford in May 1954, Roger Bannister, who died on Saturday, ran a mile with preparations which seems perfectly amateurish by contemporary standards, and yet he broke one of the most enduring psychological barrier of the human race. Since the mid-19th century, medical science had believed that the human frame could […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016