Day: February 9, 2018

झोलाछाप और तंत्र (जनसत्ता)

मरीजों को झोलाछाप डॉक्टर किस तरह मौत के मुंह में धकेल रहे हैं, इसका ताजा वाकया उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की बांगरमऊ तहसील में सामने आया। एक तथाकथित डॉक्टर ने एक ही सूई से इंजेक्शन लगा कर कई लोगों को एचआइवी संक्रमित कर डाला। पिछले दस महीनों के दौरान पचास से ज्यादा लोग इसका […]

सावधानी की मुद्रा (जनसत्ता)

हर दो महीने पर मौद्रिक समीक्षा जारी करने से पहले रिजर्व बैंक को इस दुविधा से जूझना पड़ता है कि वह किसे अहमियत दे, वृद्धि दर को प्रोत्साहन देने वाले उपायों तथा बाजार की अपेक्षाओं को, या महंगाई नियंत्रण को। मौजूदा वित्तवर्ष की छठी और नई मौद्रिक समीक्षा से जाहिर है कि रिजर्व बैंक ने […]

औचित्यहीन एफआईआर (नईदुनिया)

अच्छा होता कि कश्मीर में तैनात मेजर आदित्य कुमार के पिता को सुप्रीम कोर्ट में इस आशय की याचिका दायर नहीं करनी पड़ती कि उनके सैन्य अफसर बेटे और उसकी टीम के खिलाफ शोपियां में दर्ज की गई एफआईआर रद्द की जाए। इसे तो रक्षा मंत्रालय को सुनिश्चित करना चाहिए था कि जम्मू-कश्मीर में बेहद […]

जेटलीजी तो खेल कर गये (प्रभात खबर)

II योगेंद्र यादव II संयोजक, स्वराज अभियान yyopinion@gmail.com ‘बधाई हो, आपकी मेहनत रंग लायी!’ बजट के अगले दिन एक दोस्त से मिली इस बधाई से मैं हैरान था. ‘किस बात की बधाई?’ मैंने पूछा. ‘अरे, अरुण जेटली ने आपकी मांग मान ली?’ ‘कहां मानी?’ मैं अब भी हैरान था. ‘भई आप यही मांग रहे थे […]

सुनिश्चित हो खाप की जवाबदेही (प्रभात खबर)

II जगमती सांगवान II सदस्य, केंद्रीय कमेटी, एआइडीडब्ल्यूए jagmatisangwan@gmail.com अभी कुछ ही दिन पहले देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा था कि दो वयस्कों की शादी में कोई भी बाधा नहीं बन सकता. ऑनर किलिंग पर प्रतिबंध लगाने की मांग वाली एक याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने खाप पंचायतों को फटकार लगायी थी […]

कश्मीर में अग्नि परीक्षा (प्रभात खबर)

II तरुण विजय II पूर्व सांसद, भाजपा tarunvijay55555@gmail.com जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में कार्यरत कैप्टन कपिल कुंडु अभी अपना तेइसवां जन्मदिन मनानेवाले थे कि गत रविवार राजौरी-पुंछ क्षेत्र में वे पाकिस्तानी गोलीबारी में शहीद हो गये. उनकी पूज्य मां सुनीता कुंडु ने आंसू पोंछते हुए कहा कि यदि उनके दूसरा बेटा भी होता, तो वे […]

Political messaging and the Union budget (Livemint)

Deepak Nayyar The Union budget for 2018-19, presented in Parliament last week, was a formidable challenge for the finance minister. He had to strike a balance between the complex task of managing the economy and the political compulsions of a government in the last year of its term. There is a slowdown in economic growth. […]

Getting in on the private sector space race (Livemint)

Elon Musk knows how to sell a story. Somewhere in space, the SpaceX founder’s car is headed for the asteroid belt with a mannequin strapped into the driver’s seat and “Don’t Panic”—a nod to Douglas Adams’ absurdist science fiction—flashing on the dashboard. It’s just the right amount of silly, impish and hubristic to capture the […]

Rent control needs retirement, not a comeback (Livemint)

Megan McArdle According to The Wall Street Journal, rent control seems to be making a retro comeback. Most forms of intelligent life could be forgiven for asking why. Serial experimentation with this policy has repeatedly shown the same result. Initially, tenants rejoice, and rent control looks like a victory for the poor over the landlord […]

Social enterprise uses capitalism for uplift (Livemint)

Jaivir Singh It is the profit motive that has driven capitalism over the years, and successfully too. However, a free enterprise model has been less-than-successful in driving social uplift. The face of entrepreneurship has changed over the years to accommodate non-traditional enterprises and tap markets that are not yet exhausted, with even technological advancements opening […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016