Day: January 9, 2018

मुद्दों से ध्यान भटकाने का ‘आधार’ (पत्रिका)

– आलोक मेहता, वरिष्ठ टिप्पणीकार सर्वाधिक सुरक्षित योजना के दावों के उलट पिछले दिनों जब एक पत्रकार ने आधार परियोजना के आंकड़े व निजी जानकारियां मात्र चंद रुपयों में हासिल कर ली तो सरकार ने उस पत्रकार को ही राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए कठघरे में खड़ा कर दिया। क्या सरकार की यह कार्रवाई […]

मुस्लिम महिलाओं के लिए सुकून भरे फैसले (पत्रिका)

– नजमा खातून, स्वतंत्र टिप्पणीकार मुस्लिम कानून में विवाह, तलाक, मेहर, जायदाद सम्बंधी विस्तृत जानकारी एवं महिलाओं को पुरुषों के समकक्ष सम्मानजनक अधिकार दिए गए हैं। तलाक को ***** माना गया है और विषम परिस्थितियों में विशेष प्रक्रिया के चलते तलाक जायज बताया है। परंतु समाज के अशिक्षित वर्ग द्वारा अर्थ को जाने बिना मनमाने […]

विषयों में फेल अध्यापक पढ़ा रहे पंजाब के प्राइमरी स्कूलों में (पंजाब केसरी)

—विजय कुमार इन दिनों पंजाब में स्कूली शिक्षा के स्तर को लेकर एक बहस-सी छिड़ी हुई है। जहां छात्रों के ज्ञान एवं शिक्षा के स्तर में गिरावट चिंता का विषय है वहीं पंजाब के प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाने वाले 300 से अधिक अध्यापकों का ज्ञान एवं शिक्षा का स्तर भी प्रश्रों के घेरे में आ […]

आंकड़ों का विवाद (हिन्दुस्तान)

कहा जाता है कि तथ्य जब आंकड़ों के रूप में सामने आते हैं, तो बहुत उलझाते हैं। इन दिनों कृषि उत्पादन के आंकडे़ पूरे देश को उलझाए हुए हैं। अभी एक हफ्ते पहले ही केंद्रीय सांख्यिकीय संगठन यानी सीएसओ ने बताया था कि इस साल कृषि उत्पादन पिछले साल जैसा नहीं रहेगा। पिछले वित्त वर्ष […]

शोर के विरुद्ध (जनसत्ता)

इसमें दो राय नहीं कि ध्वनि प्रदूषण दिनोंदिन बढ़ता गया है। दरअसल, जिस तरह हवा और पानी में प्रदूषण तेजी से बढ़ा है, उसी तरह वातावरण में शोर भी। हालत यह है कि चाहे आप सड़क पर हों या घर में या कामकाज की जगह पर, कहीं भी शोर से छुटकारा नहीं है। सड़कों पर […]

जानलेवा सफर (जनसत्ता)

सड़क पर वाहन चलाते समय लापरवाही का अंजाम कितना त्रासद हो सकता है, रविवार की सुबह दिल्ली-हरियाणा सीमा पर हुआ एक बड़ा हादसा इसका उदाहरण है। एक कार से लौट रहे राष्ट्रीय स्तर के पांच भारोत्तोलक खिलाड़ियों की जान महज इस शौक के चलते चली गई कि उन्हें हरियाणा के मुरथल के पराठे खाना था […]

बस ने नहीं, सरोकारहीनता ने बच्चों को मारा (नईदुनिया)

– डॉ. उमराव सिंह चौधरी कुछ दिन पूर्व इंदौर शहर में दिल्ली पब्लिक स्कूल (डीपीएस) की अंधाधुंध रफ्तार से भागती बस के दुर्घटनाग्रस्त होने से चार सुकुमार और होनहार बच्चे असमय ही काल के गाल में समा गए। इस तरह ये स्कूल बस ही बच्चों के लिए डायन बन गई। बस को डायन बनाने वालों […]

स्वदेशी हथियारों पर जोर (नईदुनिया)

यह बात सचमुच देशवासियों का हौसला बढ़ाने वाली है कि भारत धीरे-धीरे हथियारों का आयात कम करने की दिशा में बढ़ रहा है। किसी देश की सुरक्षा और उसकी कुल प्रगति के लिए आवश्यक होता है कि वह रक्षा क्षेत्र में आत्म-निर्भर हो। चूंकि इस मामले में अपने देश के आगे बढ़ने की बात स्वयं […]

असाधारण चुनावी वर्ष का आगाज (प्रभात खबर)

योगेंद्र यादव संयोजक, स्वराज अभियान वर्ष 2018 चुनावी वर्ष होने जा रहा है, सिर्फ इसलिए नहीं कि इस वर्ष विधानसभा चुनावों के दो चक्र होनेवाले हैं, बल्कि वर्ष के अंत तक वक्त से पहले लोकसभा चुनाव भी कराये जा सकते हैं. इस वर्ष का बजट भाषण चुनावी भाषण होगा, आर्थिक सर्वेक्षण तथा सभी आर्थिक आंकड़े […]

अर्थव्यवस्था की गतिकी (प्रभात खबर)

संदीप मानुधने आर्थिक मामलों के जानकार केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के वर्षभर के पहले अग्रिम आकलन के मुताबिक सकल घरेलू उत्पादन (जीडीपी) की वार्षिक वृद्धि दर का आंकड़ा अनुमान से काफी कम आया है. सीएसओ का कहना है कि मौजूदा वित्त वर्ष में जीडीपी 6.5 फीसदी के दर से बढ़ेगी, जबकि रिजर्व बैंक का आकलन […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016