Day: January 4, 2018

भारत फूंकेगा नई जान (राष्ट्रीय सहारा)

तारीख 1 जनवरी 2018 को केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्यग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि पिछले दिनों ब्यूनस आयर्स (अज्रेटीना) में आयोजित विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के 11वें मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में खाद्य सुरक्षा के मुद्दे पर वार्ता असफल हो गई है। अतएव भारत ने खाद्य सुरक्षा और कृषि संबंधी अन्य मुद्दों पर डब्ल्यूटीओ के अमीर […]

Cold, Calculated, Consistent (TOI)

India’s Pakistan policy needs a political consensus, stop crossing electoral swords with it Vivek Katju India’s deputy consul general in New York was arrested and maltreated by the Americans in December 2013 leading to anger in the country. Four years later, the Pakistanis behaved appallingly with Kulbhushan Jadhav’s mother and wife. On this occasion too, […]

बाकी है अभी मानवीय समता की लड़ाई (दैनिक ट्रिब्यून)

विश्वनाथ सचदेव पुणे के निकट कोरेगांव भीमा में दो सौ साल पहले एक लड़ाई लड़ी गयी थी। इसी नववर्ष के दिन उस लड़ाई की याद को ताज़ा किया गया। देश भर से दलित नेता एकत्र हुए थे इस अवसर पर। हां, यह लड़ाई एक तरह से दलित अस्मिता की ही लड़ाई थी। दो सौ साल […]

प्रतिभा पर बंदिशें (दैनिक ट्रिब्यून)

वैश्विक नियमों के विरुद्ध अमेरिकी नीति अब तक अमेरिका में शिक्षित, प्रतिभाशाली प्रवासियों का खुले दिल से स्वागत करने की परंपरा रही है, लेकिन ट्रंप सरकार में ऐसा नहीं होगा। अब तक आप्रवासी अमेरिका की तकनीकी उत्कृष्टता में महत्वपूर्ण योगदान देते रहे हैं। संरक्षणवादी प्रवृत्तियों और दक्षिणपंथी राजनीति के ज्वार में ह्वाइट हाउस तक पहुंचे […]

भारतीय लोकतंत्र का दिशा निर्धारक साल (दैनिक ट्रिब्यून)

योगेंद्र यादव इस साल को केवल इसलिए चुनावों का साल नहीं कहा जा रहा है कि इसमें दो चरणों में राज्य विधानसभाओं के चुनाव करवाने का कार्यक्रम है और न सिर्फ इस कयास पर कि आगामी लोकसभा चुनाव को समय पूर्व करवा दिया जाएगा बल्कि इस कारण से भी कि तमाम राजनीतिक और प्रशासनिक गतिविधियां […]

आम दिलों के राजा रजनीकांत (दैनिक ट्रिब्यून)

अरुण नैथानी शायद अभावों की तपिश में तपकर कुंदन होकर निखरे हैं रजनीकांत। शेष भारत के फिल्म समीक्षक उनकी अभिनय प्रतिभा व शैली को लेकर चर्चा कर सकते हैं, मगर दक्षिण भारत, खासकर तमिलनाडु के लोगों के दिलों पर वे राज करते हैं। अभावों में पले-बढ़े रजनीकांत ने गुरबत से जीने के सबक सीखे। बेंगलुरु […]

Citizen count: on Assam’s draft NRC (The Hindu)

Prodded by an unrelenting Supreme Court Bench, Assam met its December 31 deadline for publication of the first draft of the updated National Register of Citizens. In the event, the list proved to be a draft of a draft, with 13.9 million cases remaining under scrutiny and names of only 19 million of the 32.9 […]

Money talks: on U.S.-Pakistan ties (The Hindu)

That the U.S. will continue to withhold $255 million in Foreign Military Financing to Pakistan this year suggests it is prepared to downgrade its ties with Pakistan further in an effort to hold it to account on terrorism. U.S. Ambassador to the UN Nikki Haley cited Pakistan’s “double game” of cooperating with the U.S. and […]

नियंत्रण रेखा ऐसी जगह है जहां पल भर में खतरनाक स्थिति में बदलते सामान्य हालात (दैनिक जागरण)

सैयद अता हसनैन भारतीय सेना में एक कहावत है कि नियंत्रण रेखा यानी एलओसी ऐसी जगह है जहां पल भर में तिल का ताड़ बन जाता है। यहां बेहद सामान्य हालात पांच मिनट में खतरनाक सामरिक स्थिति का रूप ले सकते हैं। ऐसा इसलिए भी है, क्योंकि इसके साथ ही कई और भी पहलू जुड़े […]

चना, ऊर्जा उत्पादन और यातायात की तकनीक में असाधारण विकास (दैनिक जागरण)

मृणाल पाण्डे वर्ष 2018 की शुरुआत में दुनिया हर रोज लगातार अधिक बहुरंगी और बहुभाषी बन रही है और हम सब नएपन से जैसे-तैसे तालमेल बिठाते हुए जीने को मजबूर हैं। इस दुनिया में जगह बनानी हो तो मानना होगा कि अब हम जबरन इकधर्मी, इकरंगी 5000 बरस पुरानी संस्कृति विशेष की शेखी के मार्फत […]



संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016