Month: January 2018

समय का चुनाव (जनसत्ता)

संसद सत्र की शुरुआत के अवसर पर रिवायत के अनुरूप राष्ट्रपति ने सोमवार को दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संसद में यह पहला संबोधन था। अपने इस अभिभाषण में उन्होंने दो प्रमुख मुद्दे उठाए। यह कि लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ होने चाहिए। दूसरे, उन्होंने तीन […]

जहरीली हवा में (जनसत्ता)

अब यह कहना-सुनना कोई नई बात नहीं है कि दिल्ली देश का सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर है। पर्यावरण पर काम करने वाले देशी-विदेशी संगठन समय-समय पर न केवल दिल्ली, बल्कि भारत में तेजी से बढ़ रहे वायु प्रदूषण को लेकर चिंता जताते रहे हैं। ग्रीनपीस इंडिया ने हाल में बताया कि पूरे देश में वायु […]

अर्थव्यवस्था की तस्वीर (जनसत्ता)

बजट सत्र शुरू होते ही, जैसी कि रिवायत है, सरकार ने सालाना आर्थिक सर्वे संसद में पेश कर दिया। इस सर्वे के आधार पर यह अंदाजा लगाया जाता है कि अर्थव्यवस्था किस मुकाम पर और किस हालत में है। साथ ही, इससे पता चलता है कि पिछले साल बजट में जो घोषणाएं की गई थीं, […]

फेडरर का करिश्मा (जनसत्ता)

अगर रोजर फेडरर को टेनिस की दुनिया का बादशाह कहा जाए तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं है। स्विट्जरलैंड के इस महान खिलाड़ी ने रविवार को मेलबर्न में जो कमाल दिखाया उसने उनके साथ-साथ टेनिस को भी एक नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया। गुजरे पांच दशक में यह पहला मौका है जब किसी खिलाड़ी ने पुरुषों […]

राजनीतिः मोहनदास से महात्मा तक (जनसत्ता)

श्रीभगवान सिंह गांधी की सविनय अवज्ञा के दो स्तर या दो आयाम थे। प्रथम आयाम का संबंध व्यक्ति द्वारा अपनी आंतरिक बुराइयों तथा अवगुणों की निरंतर अवज्ञा करते हुए अंत:करण को शुद्ध चैतन्य से भरपूर करने से था। दूसरे आयाम का संबंध सामाजिक-राजनीतिक अनीतियों का अहिंसात्मक ढंग से प्रतिकार करने से था। गांधी आजीवन इन […]

एक साथ चुनाव की बात (नईदुनिया)

संसद के संयुक्त सत्र के संबोधन में राष्ट्रपति की ओर से लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराने की पैरवी से यह साफ हो जाता है कि सरकार इसे लेकर गंभीर है। चूंकि राष्ट्रपति का अभिभाषण सरकार का नीतिगत दस्तावेज होता है, इसलिए उसमें एक साथ चुनाव का विचार शामिल होना और अधिक महत्वपूर्ण […]

Why it is critical to involve people in solving water woes (Hindustan Times)

The Union government has finalised a Rs 6,000-crore scheme to tackle the country’s depleting groundwater level. The Atal Bhujal Yojana, which is now awaiting the Union Cabinet’s clearance, will be launched in Gujarat, Maharashtra, Haryana, Karnataka, Rajasthan, Uttar Pradesh and Madhya Pradesh, covering 78 districts, 193 blocks and more than 8,300 gram panchayats. Half of […]

जनतंत्र को हिंसा से बचाना होगा (प्रभात खबर)

मणींद्र नाथ ठाकुर एसोसिएट प्रोफेसर, जेएनयू हमारा समाज एक अजीब दौर से गुजर रहा है. कौन किस बात पर नाराज हो जाये, किसकी किस अस्मिता को कब ठेस लग जाये और कब कहां और कैसे हिंसा भड़क जाये, हमें समझ नहीं आ रहा है. जाने-माने साहित्यकार पुरुषोत्तम अग्रवाल के उपन्यास ‘नाकोहस’ की बात सच होती […]

आर्थिक समीक्षा में बजट की झलक (प्रभात खबर)

राजेश रपरिया वरिष्ठ पत्रकार राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद पेश आर्थिक समीक्षा 2017-18 से उम्मीद जतायी गयी है कि 2018-19 में 7 से 7.5 फीसदी आर्थिक वृद्धि हासिल करने के बाद भारत एक बार फिर दुनिया की सबसे तेजी से बढ़नेवाली बड़ी अर्थव्यवस्था बन जायेगा. इस समीक्षा में 2017-18 में 6.75 फीसदी आर्थिक वृद्धि का […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016