Day: December 2, 2017

बेचो नहीं, जनता के काम में लो (पत्रिका)

– गोविन्द चतुर्वेदी राजस्थान सरकार ने घाटे में चल रहे जयपुर के खासाकोठी और उदयपुर के आनंद भवन होटल को बंद करने का फैसला कर लिया। चलेंगे आगे भी वहां होटल ही पर उन्हें प्राइवेट लोग चलाएंगे। ये दोनों ही इमारतें शहर के बीचों-बीच हैं। रियासत काल में आज से करीब-करीब सौ साल पहले की […]

गुजरात:सॉफ्ट हिंदुत्व बनाम राष्ट्रवाद (पत्रिका)

– नरेश वारिया कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची देखें तो चयन में पाटीदार नेताओं का दखल नजर आया। हार्दिक पटेल के समर्थन से कांग्रेस इन चुनावों मेंं सत्ता हासिल करने की उम्मीद कर रही है। वर्ष 2015 में हुए स्थानीय निकाय चुनावों में भी कांग्रेस को खासी सफलता मिली थी। इस सफलता के पीछे पाटीदार आंदोलन […]

उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव में भाजपा की भारी जीत (पंजाब केसरी)

इन दिनों देश में चुनावों का मौसम चल रहा है। अभी पिछले महीने ही हिमाचल विधानसभा के चुनाव सम्पन्न हुए हैं और अब 9 तथा 14 दिसम्बर को गुजरात विधानसभा के चुनाव होने जा रहे हैं जिनका परिणाम हिमाचल के चुनाव परिणामों के साथ ही 18 दिसम्बर को घोषित होगा। इस बीच गत दिनों उत्तर […]

अपनी ही आग का शिकार (हिन्दुस्तान)

पेशावर यूनिवर्सिटी के एग्रीकल्चर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट पर हुए हमले में मौतों के लिहाज से भले ही संख्या बहुत बड़ी न लग रही हो, लेकिन इसके इशारे बहुत गंभीर हैं। इसने पेशावर में ही 16 दिसंबर, 2014 के उस मंजर की याद ताजा कर दी, जब पाकिस्तान के सबसे बड़े आतंकी हमले में वहां का सैनिक […]

इस उपनिवेशवाद को उखाड़ फेंकें (हिन्दुस्तान)

के विजयराघवन, सचिव, बायोटेक्नोलॉजी विभाग, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय पूरी दुनिया में ताकत का एक बड़ा असंतुलन भाषा से पैदा होता है। नई खोज, इनोवेशन और विज्ञान व प्रौद्योगिकी की दुनिया पर यह हावी है। और यह भाषा कोई दूसरी नहीं, बल्कि अंग्रेजी है। पश्चिमी देश आज इसलिए बौद्धिक वर्चस्व हासिल कर सके, क्योंकि जिन […]

बढ़ोतरी का अर्थ (जनसत्ता)

चालू वित्तवर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर का 6.3 फीसद पर आ जाना अर्थव्यवस्था के फिर से गति पकड़ने का ही संकेत है। लगातार पांच तिमाही से गिरावट दर्ज हो रही थी और इसके चलते सरकार को काफी आलोचना भी झेलनी पड़ी। एक के बाद एक कई तिमाहियों तक गिरावट के आंकड़े […]

निकायों के नतीजे (जनसत्ता)

उत्तर प्रदेश के नगर निकाय चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनावों की ही तरह जोरदार जीत हासिल हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी प्रतिक्रिया में इसे विकास की जीत कहा है तो मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने प्रधानमंत्री के विकास के ‘विजन’ और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की […]

कट्टरपंथ से जख्मी पाक (नईदुनिया)

सोलह दिसंबर, 2014 को पाकिस्तान के पेशावर शहर में आतंकवाद का भयंकर रूप देखने को मिला था। उस रोज वहां के आर्मी पब्लिक स्कूल में घुसकर तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के आतंकियों ने कत्ल-ए-आम मचाया। तकरीबन डेढ़ सौ लोग मरे, जिनमें ज्यादातर 12 से 16 साल के विद्यार्थी थे। लगभग तीन साल बाद (दिसंबर 2017 की […]

बढ़ती अशांति और भ्रांति से बेचैन (नईदुनिया)

– मृणाल पांडे साल 2017 समाप्ति पर है, लेकिन नई सदी के उपजाए सरदर्द घट नहीं रहे। पाकिस्तान में हर दो-तीन महीनों के भीतर कट्टरपंथी गुट उदारवादी लोकतांत्रिक मूल्यों को मानव बम से उड़ा रहे हैं। म्यांमार में बौद्ध बहुसंख्य जनता द्वारा रोहिंग्या मुस्लिमों को जबरन भेड़-बकरियों की तरह देश से बाहर हांक दिया गया […]

ठहरा दी गई वह रात (राष्टीय सहारा)

अनिल जैन तीन दिसम्बर 1984 की आधी रात के बाद भोपाल के यूनियन कार्बाइड के कारखाने से निकली जहरीली गैस (मिक यानी मिथाइल आइसो साइनाइट) ने अपने-अपने घरों में सोए हजारों लोगों को एक झटके में हमेशा-हमेशा के लिए सुला दिया था। जिन लोगों को मौत अपने आगोश में नहीं समेट पाई थी, वे उस […]

संपादकीय:Editorials (Hindi & English) © 2016