Day: October 8, 2019

‘मर्यादा पुरुष’ बनने के संकल्प का दिन (दैनिक ट्रिब्यून)

लक्ष्मीकांता चावला रामराज्य की ओर अग्रसर होने का संकल्प दिवस बना विजयादशमी भारत का राष्ट्रीय पर्व है। अत्याचार, अनाचार और अधर्म के प्रतीक रावण पर श्रीरामचंद्र जी की विजय का स्मृति दिवस है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम सत्य, न्याय एवं सद्चरित्र के प्रतीक हैं। युगों-युगों से भारतवासी इस दिवस को गौरव से मनाते आ रहे हैं।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

विश्वास के रिश्ते (दैनिक ट्रिब्यून)

कहा जा सकता है कि भारत और बांग्लादेश की रिश्ते सबसे बेहतर दौर में हैं। हालांकि, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना तीस्ता नदी जल बंटवारे तथा एन.आर.सी. मुद्दे पर अपने देश की चिंताओं के बीच भारत आईं, मगर इसके बावजूद बेहतर माहौल में सात समझौते हुए। दोनों ही प्रधानमंत्री चुनाव के बाद बनी नई सरकारों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

लोकतंत्र को झटका (नवभारत टाइम्स)

मॉब लिंचिंग की घटनाओं से चिंतित होकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखने वाले 49 कलाकारों-बुद्धिजीवियों पर बिहार की एक अदालत में राजद्रोह का केस दर्ज होना भारतीय लोकतंत्र पर एक बड़ा धब्बा है। अधिकार और स्वतंत्रता को लेकर अक्सर पूरी दुनिया में भारतीय जनतंत्र की मिसाल दी जाती है। भीड़ की हिंसा पर चिंता जताने वालों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

वायु सेना की क्षमता बढ़ाने वाले तेजस के विकास की पूरी कहानी, वाजपेयी से है इसका लिंक (दैनिक जागरण)

[डॉ. लक्ष्मी शंकर यादव]। भारतीय वायु सेना का तेजस लड़ाकू बहुत जल्द आइएनएस विक्रमादित्य जैसे विमानवाहक पोतों से उड़ान भरता नजर आएगा। हल्के लड़ाकू विमान तेजस के नौसेना संस्करण को विकास की दिशा में बेहतर सफलता प्राप्त हुई है। इसने अपने नए हालिया परीक्षण में एक खास कदम के तहत बीते माह विमानवाहक पोत पर...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पीएमसी बैंक घोटाला: बैंक ने घाटे में चल रही कंपनियों को कर्ज दिया जिसे फर्जी नाम से छुपा लिया (दैनिक जागरण)

[ डॉ. भरत झुनझुनवाला ]: पंजाब एंड महाराष्ट्र बैैंक यानी पीएमसी बैंक घोटाले में यह सामने आया कि उसने घाटे में चल रही कंपनियों को कर्ज दिए और उन्हें फर्जी नाम से छुपा लिया। इसी तरह महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक ने घाटे में चल रही सहकारी चीनी मिलों को संदिग्ध कर्ज दिए। इन मिलों से...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

विजयादशमी: राम-रावण का समर इसलिए जारी है, क्योंकि प्रकाश-अंधकार का संघर्ष कभी खत्म नहीं होता (दैनिक जागरण)

[ परिचय दास ]: विजयादशमी शक्ति का उत्सव है। मंगल का हेतु है। सवाल किया जा सकता है कि कैसी शक्ति? जवाब यही होगा कि जो अन्याय का प्रतिरोध करे, जो निर्बल को संबल दे और जो करुणा को समन्वित कर पुरुषार्थ को आधार बनाए उसकी शक्ति। दरअसल हर किसी के जीवन में एक समय...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पर्यावरण और विकास के बीच संतुलन के लिए जल-जंगल-जमीन को संरक्षित करने की आवश्यकता (दैनिक जागरण)

मुंबई में मेट्रो के कारशेड निर्माण के लिए पेड़ों को काटने का विरोध आखिरकार सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा। उसने मुंबई की आरे कॉलोनी में पेड़ काटने पर रोक लगाने का आदेश देने के साथ ही मामले को पर्यावरण पीठ के समक्ष भेज दिया। इस पीठ का फैसला जो भी हो, इसकी अनदेखी नहीं की जा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Global or local: India’s dilemma on the RCEP (Hindustan Times)

That India will likely sign the Regional Comprehensive Economic Partnership (RCEP) agreement is a given. It is also a given that there is significant divergence of views, even within the government, on the wisdom of doing so. This is understandable. At one level, India cannot afford to not be part of RCEP. Multilateralism is dead...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आज के महिषासुर का वध (प्रभात खबर)

पवन के वर्मा, लेखक एवं पूर्व प्रशासक दुर्गा सप्तशती (400-600 ई.) इस बिंदु पर निस्संकोच रूप से बल देती है. दुर्गा, पार्वती की प्रतिरूप, शिव की अर्द्धांगिनी, इस ब्रह्मांड की सर्वोच्च सत्ता तथा सृजनकर्ता हैं. उनके बिना शिव जड़ हैं. शिव सर्वव्यापी, सर्वदर्शी, ब्रह्मण के सर्वज्ञ प्रतिनिधि, निर्गुण, निर्विशेष चेतना, जो अदृश्य, अचिंत्य तथा अखंड...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संपादकीय: वायुसेना की ताकत (जनसत्ता)

अपने साढ़े आठ दशक से ज्यादा के सफर में भारत की वायुसेना ने जितने पड़ाव देखे हैं, वे उसकी सफल विकास यात्रा को बयान करते हैं। भारत को चीन और पाकिस्तान के साथ युद्ध भी लड़ने पड़े और वायुसेना ने जिस शौर्य और सजगता के साथ दुश्मन देश के छक्के छुड़ाए, उसे कैसे भुलाया जा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register