Day: September 3, 2019

विकास की गति तेज करनी होगी (प्रभात खबर)

आकार पटेल लेखक एवं स्तंभकार इस वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) केवल पांच प्रतिशत की दर से बढ़ा, जो पिछले छह वर्षों में न्यूनतम है. मेक इन इंडिया मुहिम के सिरमौर मैन्युफैक्चरिंग (विनिर्माण) क्षेत्र में तो सिर्फ एक प्रतिशत की ही बढ़त रही. छह वर्षों के दौरान यह लगातार...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

India a bright spot amidst global gloom (The Economic Times)

As Indians fret overgrowth slowing to a crawl, Toronto based Fairfax Financial Holdings boss Prem Watsa hails India as the number one investment draw of the world, as China, the hitherto automatic choice, is embroiled in a trade fight with America. Such investors focus on the country’s long-term growth potential, rather than its short-term woes,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

क्यों जरूरी है रूस का साथ (हिन्दुस्तान)

जोरावर दौलत सिंह, फेलो, सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च साल 1964 में तत्कालीन अमेरिकी राजनयिक चेस्टर बॉउल्स और मॉस्को में तैनात भारतीय राजदूत टी एन कौल की आपसी मुलाकात समकालीन भू-राजनीति के बारे में दिलचस्प नजरिया पेश करती है। उस बैठक में दक्षिण-पूर्व एशिया की चर्चा करते हुए बॉउल्स ने कहा था, ‘सुखद होगा, यदि सोवियत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

नई लड़ाई का हथियार (हिन्दुस्तान)

युद्ध अब बदल गए हैं। नए दौर की सामरिक चुनौतियों का सामना करने का तरीका है- लगातार नई व उन्नत रक्षा तकनीक और नए हथियारों को जखीरे में शामिल करना। पुराने हथियारों से नए युद्ध नहीं लडे़ जा सकते और इस लिहाज से देखें, तो भारतीय वायु सेना में अपाचे एएस64ई का शामिल होना काफी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register