Day: August 17, 2019

बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा (दैनिक ट्रिब्यून)

आलोक पुराणिक निवेश का माहौल इन दिनों तरह-तरह की अनिश्चितताओं से भरा हुआ है। किसी न किसी वजह से शेयर बाजारों में विकट उथलपुथल है। चीन-अमेरिका का व्यापार युद्ध नये आयाम ले रहा है। ग्लोबल बाजार में तरह-तरह के नकारात्मक समाचार तैर रहे हैं। चीन मंदी की ओर है। भारत में कहीं न कहीं मंदी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

दुनिया देखें मगर (नवभारत टाइम्स)

विदेश यात्रा को लेकर बढ़ता आकर्षण हमें अपने इर्दगिर्द भी दिख रहा है लेकिन रिजर्व बैंक के ताजा आंकड़ों ने बाकायदा इसकी पुष्टि कर दी है। इन आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून महीने में ही देशवासियों ने 59.6 करोड़ डॉलर (करीब 4000 करोड़ रुपये) विदेश यात्रा पर खर्च किए हैं जो पिछले साल इसी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जन-तिरस्कार की वजह (राष्ट्रीय सहारा)

अगर कोई पार्टी पचपन साल के अपने लगभग निर्बाध शासनकाल में समाज की सोच को वैज्ञानिक, तार्किक और धर्मनिरपेक्ष न बना पाए, बल्कि स्वयं ऐसा वातावरण तैयार करे कि पहले जातिवाद और फिर संप्रदायवाद सर चढ़ कर बोले तो गलती किसकी है? इतिहास गवाह है कि पहचान समूहों में बंटा समाज पारस्परिक द्वंद्व करता है...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Summer of Love 2.0 (The Indian Express)

Written by Ramin Jahanbegloo Fifty years ago, in August 1969, half a million people gathered for three days on a 600-acre dairy farm at Bethel, New York to celebrate peace, love and music. The event became known as the Woodstock Rock Festival. The festival became world-famous after a soundtrack album and an award-winning documentary by...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मोदी ने की निर्णायक रक्षा सुधार की पहल, सीडीएस की नियुक्ति से सैन्य बलों में होगा बेहतर समन्वय (दैनिक जागरण)

[ ब्रिगेडियर आरपी सिंह ]: स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अत्यंत अहम घोषणा की। उन्होंने सैन्य बलों की क्षमताओं को और बेहतर बनाने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी सीडीएस की नियुक्ति का एलान किया। उन्होंने कहा, ‘हमारे सैन्य बल भारत का गौरव हैं। उनमें और...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

देशहित में कुछ कहने और करने की इच्छाशक्ति सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी जैसे नेता में ही संभव है(दैनिक जागरण)

प्रदीप सिंह ]: संवाद की कला में निपुण हुए बिना कोई नेता महान नहीं बन सकता। महान नेताओं की खूबी होती है कि वे लोगों से जब भी बात करते हैं तो उनसे भावनात्मक रूप से जुड़ जाते हैं। फिर उनकी बात से प्रेरित होकर लोग वह कर गुजरते हैं, जिसका उन्हें भी पूर्वानुमान नहीं...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कश्मीर मामले में भारत ने दिया पाकिस्तान को सख्त संदेश, सुधर जाओ वरना सुधारना भी आता है मुझे (दैनिक जागरण)

अनुच्छेद-370 की समाप्ति के बाद जम्मू-कश्मीर में हर दिन सुधरते हालात के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जिस तरह यह संकेत दिया कि अगर आवश्यकता हुई तो भारत नाभिकीय हथियारों का पहले इस्तेमाल न करने के अपने सिद्धांत पर फिर से विचार कर सकता है उसका संदेश पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी सुनना...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

It is time for the world to return India’s cultural artefacts (Hindustan Times)

Like Republic Day, India’s Independence Day too has never been a dry political event. Both celebrations have strong cultural undertones. If the former is known for the cultural tableaus along with the riveting Indian Air Force flypast, the latter is marked by the rendition of the National Anthem and patritotic songs, the sale of Tricolour...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

लगातार बढ़ रही हैं पुलिस कर्मचारियों की लापरवाही और मनमानियां (पंजाब केसरी)

हमारे नेताओं द्वारा पुलिस विभाग के कर्मचारियों को अनुशासित होने की नसीहतें देने के बावजूद पुलिस कर्मियों द्वारा मनमानियां और कानून विरोधी गतिविधियां लगातार जारी हैं। यह विडम्बना ही है कि अपराधों और अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए जिम्मेदार पुलिस बल के अनेक सदस्य स्वयं अपराधों में संलिप्त होकर इसकी बदनामी का कारण बन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Popular anxiety (Livemint)

The long dormant issue of a “population explosion” has come to the national forefront, with Prime Minister having called it a challenge in his latest Independence Day speech. That India’s headcount, at over 1.3 billion, is headed even higher is not in dispute. Yet, there are signs that the number might stabilize in a few...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register