Day: July 1, 2019

स्त्री की सुध (जनसत्ता)

महिलाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा आदि को लेकर केंद्र और राज्य सरकारों की विभिन्न योजनाएं हैं। कई कड़े कानून हैं। अनेक क्षेत्रों में उन्हें विशेष सुविधाएं भी दी गई हैं। हर कहीं स्त्री सशक्तिकरण पर जोर दिया जाता रहा है। मगर हकीकत यह है कि आज तक महिलाओं को समाज में समुचित सम्मान नहीं मिल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सूखती धरती (जनसत्ता)

पिछले कुछ सालों से पानी का संकट लगातार जिस पैमाने पर गहराता जा रहा है, उससे साफ है कि हम शायद ऐसे दौर में दाखिल होने को तैयार हैं जिसमें पानी के लिए युद्ध हो या फिर मनुष्य सहित समूचे जीव-जगत को एक बड़ी त्रासदी का सामना करना पड़े। इसलिए अगर प्रधानमंत्री ने पानी की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

ऐतिहासिक मुलाकात के मायने : मैंने कभी यह उम्मीद नहीं की थी कि आपसे यहां मुलाकात होगी (अमर उजाला)

योनेट जोसेफ जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बीते शुक्रवार को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन को दोनों कोरिया को बांटने वाले असैन्यीकृत क्षेत्र (डीएमजेड) में अनौपचारिक मुलाकात के लिए ट्वीटर निमंत्रण भेजा, तो दोनों नेताओं के पास पाने और खोने के लिए बहुत कुछ था। अगर किम मिलने के लिए नहीं आते,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जी-20 में राष्ट्रीय हित: भारत अपने राष्ट्रीय हित में फैसले लेगा (अमर उजाला)

मनोज जोशी जी-20 का गठन 1999 में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय स्थिरता के उद्देश्य से विकसित एवं विकासशील देशों के एक मंच के रूप में किया गया था। 1997 के गंभीर एशियाई संकट की पृष्ठभूमि में, जिसने पूर्व और दक्षिण-पूर्व एशिया को ज्यादा प्रभावित किया और जिसके विश्वव्यापी बनने का खतरा पैदा हो गया था, इसका गठन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अच्छा और बुरा (बिजनेस स्टैंडर्ड)

ऐसा प्रतीत हो रहा है मानो देश के बैंकों ने आखिरकार फंसे हुए कर्ज की समस्या पर लगाम लगा ली है। फंसे हुए कर्ज का चक्र मार्च 2018 में उच्चतम स्तर पर पहुंचा। ऐसा भारतीय रिजर्व बैंक की चार वर्षों की उस अथक मेहनत के कारण हुआ जो उसने फंसे हुए कर्ज को चिह्नित करने...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

G-20: Globalisation and its discontents (The Economic Times)

The G20 Osaka Summit served to remind the world not just of the challenges it confronts — climate change, protectionism, liberalism’s discontents — but also that we are living in a quarrelsome world. Despite President Donald Trump’s all-too-recognisable swagger, the US’s continuing retreat from global leadership was on full display. Washington successfully resisted any reference...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

शत्रु और मित्र दोनों की दृष्टि में अजेय हैं मोदी (बिजनेस स्टैंडर्ड)

शेखर गुप्ता ऐसे समय में जब धु्रवीकरण इतना बढ़ गया है कि हम अपनी क्रिकेट टीम की जर्सी के रंग को लेकर भी झगडऩे लगे हैं, एक बात ऐसी है जिस पर मोदी के प्रशंसक और आलोचक दोनों एकमत हैं: यह कि मोदी अपराजेय हैं। न केवल अभी बल्कि निकट भविष्य में भी वह पराजित...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जापानी भाषा शिक्षा (द जापान टाइम्स, जापान)

जापान में पिछले सप्ताह पहली बार विदेशी प्रवासियों को जापानी भाषा सिखाने के लिए कानून बना है। जापानी भाषा ज्ञान को देश में जीवन का एक मुख्य आधार माना जा रहा है। जापान में रह रहे और काम कर रहे विदेशियों की संख्या के बढ़ते जाने की उम्मीद है। खासकर अप्रैल में नए वीजा नियम...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Sebi cracks the whip on mutual funds (The Economic Times)

Capital markets regulator Sebi’s attempt to improve prudential regulation that includes tighter investment rules for debt mutual funds and stricter disclosure for promoters’ share pledges is welcome. The idea is to make these schemes more secure, particularly after the IL&FS default that exposed the vulnerability of non-banking financial companies (NBFCs). The new rules mandate liquid...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register