Day: June 29, 2019

बारिश की बूंद-बूंद बचाएं जीवन के लिए (दैनिक ट्रिब्यून)

क्षमा शर्मा हाल ही में दो खबरों पर नजर गई। एक तो यह कि पेड़ों को बचाने के लिए चेन्नई में ट्री एम्बुलेंस सेवा शुरू की गई है। यानी कि पेड़ों को भी अगर तत्काल इलाज और बचाए जाने की जरूरत हो तो यह एम्बुलेंस वक्त पर पहुंच सके। आमतौर पर पेड़ बेतहाशा कटते रहते...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कानून का मखौल (दैनिक ट्रिब्यून)

आलोक पुराणिक सोने के भाव इधर तेजी से बढ़ रहे हैं। सोना प्रति दस ग्राम यानी एक तोले सोने के भाव 35000 रुपये से ऊपर निकल लिये हैं। सोने के भावों में तेजी की एक खास वजह यह है कि ग्लोबल स्तर पर कुछ अनिश्चितताएं पनप रही हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तमाम देशों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कानून का मखौल (दैनिक ट्रिब्यून)

उत्तर प्रदेश की उन्नाव जेल में संगीन अपराधों में बंद अपराधियों द्वारा जेल में दारू-पार्टी करते हुए हथियार लहराने का मामला हो या फिर मध्यप्रदेश में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा बैट से नगर निगम अधिकारी की पिटाई का मामला हो, निष्कर्ष यही है कि जिनका दायित्व कानून व्यवस्था को बनाये रखना है, वे ही...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

रोबोट की चुनौती और चमकीली संभावनाएं (दैनिक ट्रिब्यून)

जयंतीलाल भंडारी हाल ही में छब्बीस जून को आर्थिक मामलों में शोध करने वाली दुनिया की प्रसिद्ध फर्म ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2030 तक रोबोट 2 करोड़ लोगों की नौकारियां छीन सकते हैं। ये रोबोट न केवल शहरी क्षेत्रों वरन‍् ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के लिए नई चुनौती होंगे। भारत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

विदेशियों के रहने के लिहाज से मुंबई भारत का सबसे महंगा शहर (नवभारत टाइम्स)

मुंबई शहर विदेशियों के रहने के लिहाज से भारत में सबसे महंगा है। दिल्ली इस मामले में दूसरे तो चेन्नै और बेंगलुरु तीसरे-चौथे नंबर पर आते हैं। यह रैंकिंग ग्लोबल कंसल्टिंग लीडर मर्सर के एक हालिया सर्वे से मिली है। नजर को भारत से ऊपर ले जाकर पूरी दुनिया के शहरों का जायजा लें तो...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बहुभाषी भारत के लिए भाषा नीति (राष्ट्रीय सहारा)

गौतम चौबे गोदावरी-पार के प्रांतों से उत्तर भारत का भाषाई युद्धविराम सदा अनिश्चित रहा है। हिंदी के नाम पर परिकल्पित सांस्कृतिक आक्रमण के सूक्ष्मतम संकेत भी संघर्ष की स्थिति उत्पन्न करने के लिए काफी है। फिर चाहे 1937 में सी. राजगोपालाचारी द्वारा मद्रास प्रेसीडेंसी के विद्यालयों में हिंदी को अनिवार्य करने की कोशिश हो, या...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

शिक्षा नीति : उच्च शिक्षा के बदलेंगे तेवर (राष्ट्रीय सहारा)

डॉ. ललित कुमार लंबे इंतजार के बाद राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मसौदा प्रकाशित हो चुका है और नीति के प्रारूप के बारे में यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि देर आये पर दुरुस्त आए। समिति ने उच्च शिक्षा से जुड़ी तमाम समस्याओं का गहनता से अध्ययन कर अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत किया है। उच्च शिक्षा के...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

India-Pak, a pivotal moment (The Indian Express)

Written by Khaled Ahmed Prime Minister Imran Khan is trying to cleanse Pakistan of corruption and set up a new equation with India at the same time. With the first, he refuses to change his style; with the second, he honestly strives for change but is expected to get nowhere for the time being. The...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Stray cattle issue, a reality check (The Indian Express)

Written by Fauzan Alavi India is home to the largest livestock population in the world. The country is also the biggest producer of milk in the world, apart from being the third largest bovine meat exporter to almost 70 countries. There are links between the two sectors. The spent buffaloes are utilised by the bovine...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Where’s the big liberal idea? (The Indian Express)

Written by Pawan Khera It has been a month since India witnessed a decisive mandate in favour of the BJP. Of the post facto commentary, the most revealing has been the one by the “liberals”. It reveals the larger and more serious ailment that afflicts us all — seeking easy answers to complex questions. From...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register