Day: June 27, 2019

संकट में बीएसएनएल (नवभारत टाइम्स)

पब्लिक सेक्टर की टेलिकॉम कंपनी बीएसएनएल का वित्तीय संकट बेहद खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। कंपनी के पास अपने 1 लाख 76 हजार कर्मचारियों को जून की सैलरी देने के लिए भी पैसे नहीं हैं। इसके लिए उसने सरकार से 850 करोड़ रुपये मांगे हैं। छह महीने के भीतर दूसरी बार ऐसी नौबत आई...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अमेरिकी संसद में पास हुआ ये विधेयक तो NATO का सदस्‍य बन जाएगा भारत (दैनिक जागरण)

[विवेक ओझा]। वर्ष 2001 में अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर तालिबानी आतंकी हमले के बाद अमेरिका की विदेश नीति वैश्विक आतंकवाद उन्मूलन केंद्रित हो गई। अमेरिका के नेतृत्व में नाटो देशों के सैनिकों से बनी अंतरराष्ट्रीय फौजों की ऑपरेशन एन्ड्योरिंग फ्रीडम के जरिये अफगानिस्तान में तैनाती हुई। नाटो ने इसके लिए अपने सामूहिक सुरक्षा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

लोकतांत्रिक मूल्यों को मजबूती देने के लिए राजनीति दलों को नकारात्मक रवैये का परित्याग करना होगा (दैनिक जागरण)

पहले लोकसभा और फिर राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को उसके नकारात्मक रवैये के लिए जिस तरह निशाने पर लिया उससे उसकी सेहत पर कोई फर्क पड़ने की उम्मीद कम ही है, लेकिन बेहतर यही होगा कि वह अपनी रीति-नीति पर विचार करे। लोकसभा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सेहत की सूरत (जनसत्ता)

जनता को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के मामले में देश के दो राज्यों बिहार और उत्तर प्रदेश की हालत सबसे ज्यादा खराब है। चौंकाने वाली और शर्मनाक बात यह है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में इन दोनों राज्यों की स्थिति सुधरने के बजाय बिगड़ती जा रही है। इसका ताजा प्रमाण बिहार में इन्सेफलाइटिस से डेढ़...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

दिखावे का रोग (जनसत्ता)

हालांकि भारतीय समाज में यह प्रवृत्ति आम है कि लोग हर संभव तरीके से दूसरों के सामने अपने ऐश्वर्य के प्रदर्शन का मौका ढूंढ़ते रहते हैं। कमोबेश यह समाज के हर तबके के बीच पाई जाती है, भले ही इसमें दिखावे का स्तर आर्थिक सीमा से तय होता हो। लेकिन जब कोई व्यक्ति या परिवार...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Scoring on health: on Health Index 2019 (The Hindu)

The Health Index 2019 released by NITI Aayog makes the important point that some States and Union Territories are doing better on health and well-being even with a lower economic output, while others are not improving upon high standards. Some are actually slipping in their performance. In the assessment during 2017-18, a few large States...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

RCEP next steps: on India’s free trade agreement (The Hindu)

Leaders of the 10-member Association of South East Asian Nations have resoundingly committed to conclude negotiations for the Regional Comprehensive Economic Partnership free trade agreement by the end of 2019. Some like the Malaysian Prime Minister went a step further, suggesting that countries not ready to join the RCEP, notably India but also Australia and...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Negotiating the forks in the road of diplomacy (The Hindu)

Suhasini Haidar Seldom in the recent past has the impact of one month meant more in Indian foreign policy than the present one. And rarely have meetings on the sidelines around one summit carried as much import on India’s future policies as the G-20 summit in Osaka (June 28-29), where Prime Minister Narendra Modi will...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Taking firm steps to emancipation (The Hindu)

Markandey Katju The results of the elections to the 17th Lok Sabha and the scale of the mandate for the Bharatiya Janata Party have made many Muslims in India despondent. But perhaps it is a blessing in disguise. Since Independence, Muslims have been treated as a vote bank by the Indian National Congress and other...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

विवादों से परे भी संस्कृत को देखिए : इस विवाद की वजह बना है उत्तर प्रदेश सरकार का वह फैसला (अमर उजाला)

उमेश चतुर्वेदी पारंपरिक भारतीय ज्ञान को लेकर विवाद की जो परिपाटी रही है, उस संदर्भ में संस्कृत को लेकर विवाद होना अस्वाभाविक नहीं है। इस विवाद की वजह बना है उत्तर प्रदेश सरकार का वह फैसला, जिसके तहत अब राज्य सरकार की प्रेस विज्ञप्तियां संस्कृत में भी जारी होंगी। इस विवाद पर चर्चा से पहले...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register