Day: June 17, 2019

अमन बहाली का समय : मैंने कश्मीर घाटी के अच्छे दिन भी देखे हैं और बुरे दिन भी (अमर उजाला)

तवलीन सिंह मैंने कश्मीर घाटी के अच्छे दिन भी देखे हैं और बुरे दिन भी। पिछले महीने मैं यह सोचकर श्रीनगर गई कि बुरे दिनों का दौर देखने को मिलेगा। ऐसा इसलिए कि दिल्ली में विशेषज्ञ पिछले तीन साल से यह प्रचार करते फिर रहे हैं कि इतना बुरा समय कश्मीर घाटी में पहले कभी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

गुजरात मॉडल की वापसी (बिजनेस स्टैंडर्ड)

शेखर गुप्ता मोदी-शाह के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी का सत्ता प्रतिष्ठान उनकी कार्यशैली के लिए गुजरात मॉडल जैसे जुमले का इस्तेमाल करने वालों को पसंद करता है। उनके विरोधियों ने इसे सन 2002 के बाद की ध्रुवीकरण की राजनीति से जोड़ दिया है और वे इसका यही अर्थ निकालते हैं। परंतु गुजरात मॉडल की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कथनी को करनी में बदलें (बिजनेस स्टैंडर्ड)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिश्केक में आयोजित शांघाई सहयोग संगठन (एससीओ) सम्मेलन में खुले एवं गतिरोध रहित व्यापार की अहमियत और विश्व व्यापार संगठन की जरूरत के भारत के रुख को दोहराया। अब तक भारत ने कुछ देशों के बीच कारोबारी समझौतों से ज्यादा बहुपक्षीय समझौतों का समर्थन किया है। मोदी ने शुक्रवार को सम्मेलन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कृषि क्षेत्र पर राज्यों के बेरोकटोक नियंत्रण पर अंकुश की जरूरत (बिजनेस स्टैंडर्ड)

सुरिंदर सूद किसानों की समस्याओं पर गठित एम एस स्वामीनाथन की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय आयोग (नैशनल कमीशन ऑन फार्मर्स) ने कृषि क्षेत्र को राज्य सूची से स्थानांतरित कर समवर्ती सूची में रखने की सिफारिश की थी। अफसोस की बात है कि इस महत्त्वपूर्ण सिफारिश पर उतना ध्यान नहीं दिया गया है, जितनी जरूरत थी। कृषि...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सियासी दल खुद को प्रासंगिक बनाए रखने के लिए नई सोच अपना रहे वहीं वाम दल पुरानी सोच से चिपके हैं (दैनिक जागरण)

[ ए. सूर्यप्रकाश ]: फ्रेडरिक एंगेल्स ने कहा था कि राज्य नामक संस्था का पराभव सर्वहारा क्रांति का मुख्य परिणाम होगा। अगर 2019 के चुनाव बाद की तस्वीर देखें तो भारत में राज्य बहुत शक्तिशाली बनकर उभरा है। इतना ताकतवर जितना पहले कभी नहीं हुआ जबकि वामपंथी दल रसातल में चले गए। हालांकि लोकसभा चुनाव...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

साहित्यिक जमावड़े की बहसें: साहित्य में नकारात्मकता ने सृजनात्मकता को पहुंचाया नुकसान (दैनिक जागरण)

(अनंत विजय)। पिछले दिनों एक साहित्यिक जमावड़े में आज के लेखकों के आचार-व्यवहार पर चर्चा हो रही थी। बहस इस बात पर हो रही थी कि साहित्य में निंदा-रस का कितना स्थान होना चाहिए। साहित्यकारों के बीच होनेवाली गॉसिप से लेकर एक दूसरे को नीचा दिखाने की बढ़ती प्रवृत्ति पर भी चर्चा होने लगी। वहां...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

स्कूलों को सिर्फ इंजीनियर और डॉक्टर ही नहीं, बल्कि देश के लिए सभ्य नागरिक भी तैयार करने चाहिए (दैनिक जागरण)

[ सृजन पाल सिंह ]: वर्ष 2014 में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति लाने का वादा किया था। चूंकि पिछली शिक्षा नीति तीन दशक पहले आई थी इसलिए इस घोषणा से पूरे देश को काफी उम्मीदें थीं। इन उम्मीदों के बीच 2015 में टीएस सुब्रमण्यम के नेतृत्व में एक पांच सदस्यीय...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मोदी सरकार का ग्रामीण क्षेत्र में हर घर को नल से जल देना कठिन लक्ष्य है, लेकिन नामुमकिन नहीं है (दैनिक जागरण)

[ संजय गुप्त ]: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल की दूसरी पारी में जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण और पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय को मिलाकर जल शक्तिमंत्रालय बना दिया है। इस मंत्रालय की कमान गजेंद्र सिंह शेखावत को सौंपी गई है। शेखावत ने इस मंत्रालय की कमान संभालते ही यह घोषणा की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

क्रिकेट की काली दुनिया का सच, क्यों बार-बार सिर उठाती है मैच फिक्सिंग (दैनिक जागरण)

ब्रजबिहारी, नई दिल्ली। इन दिनों इंग्लैंड और वेल्स में चल रहे 12वें विश्वकप क्रिकेट टूर्नामेंट में आज भारत और पाकिस्तान के बीच मैच है, जिसे हर चार साल बाद होने वाले इस आयोजन का सबसे बड़ा मुकाबला माना जा रहा है। भारतीय टीम हर लिहाज से पाकिस्तान से ज्यादा मजबूत नजर आ रही है। लेकिन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संसद का पहला सत्र: लोकतंत्र में विपक्ष को भी तार्किक रवैये से सशक्त होना चाहिए, न कि संख्या बल से (दैनिक जागरण)

नई लोकसभा के गठन के बाद आयोजित संसद का पहला सत्र यह प्रदर्शित करेगा कि संसदीय कामकाज के तौर-तरीकों में कोई बुनियादी बदलाव आने वाला है या नहीं? इस सत्र के पहले बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में पक्ष-विपक्ष के नेताओं की ओर से भले ही चाहे जैसी उम्मीद जताई गई हो, अब तक का अनुभव...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register