Day: June 12, 2019

क्षेत्रीय दलों की सीमाएं और संभावनाएं (दैनिक ट्रिब्यून)

राजकुमार सिंह केंद्रीय सत्ता के लिए हुए सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव के परिणाम हार-जीत से इतर भी कुछ राजनीतिक संकेत देते हैं, जिन्हें निष्कर्ष पर पहुंचने की जल्दबाजी के बिना भी समझने की जरूरत है। चुनाव पूर्व से लेकर मतगणना तक कई क्षत्रप और क्षेत्रीय दल जिस तरह किंग या किंगमेकर बनने की कवायद करते...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

हड़बड़ी का हासिल (जनसत्ता)

दिल्ली में एक पत्रकार की गिरफ्तारी के मसले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने जो टिप्पणी की है, उससे एक बार फिर यही स्पष्ट हुआ है कि सरकारों और खासतौर पर उनकी पुलिस को किसी मसले पर कार्रवाई के दौरान किन मानकों का ध्यान रखना चाहिए। गौरतलब है कि हाल में एक पत्रकार प्रशांत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चैंपियन का संन्यास (जनसत्ता)

युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास भले ले लिया हो, वे आइपीएल भी न खेलें, लेकिन क्रिकेट की दुनिया में उनकी मौजूदगी हमेशा बनी रहेगी। युवराज क्रिकेट के सवश्रेष्ठ भारतीय ऑलराउंडरों में शुमार रहे। उम्मीद है कि वे अब विदेशी लीग में जलवा बिखेरेंगे। सत्रह साल के अपने क्रिकेट-जीवन में उन्होंने जो उपलब्धियां हासिल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

हिमाचल का सेब चाहिए या अमेरिका का? (अमर उजाला)

देविंदर शर्मा यह कितना दिलचस्प है कि एक देश, जो इन वर्षों में दालों का प्रमुख आयातक रहा है, वह दालों का निर्यातक भी रहा है! दालों का निर्यात वास्तव में नवंबर, 2018 से बढ़ा है, जब सरकार ने दशकों से लागू कुछ नियंत्रण में ढील दी है। जहां दालों का आयात वर्ष 2018-2019 में...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

रोजगार पैदा करने का कौशल (अमर उजाला)

जयंतीलाल भंडारी केंद्रीय सांख्यिकीय कार्यालय के श्रमबल के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2017-18 के दौरान देश में बेरोजगारी की दर 6.1 फीसदी रही है। कई आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि देश में बेरोजगारी की दर 45 साल में सर्वाधिक है। ऐसे में पांच जून को रोजगार में कमी की चुनौती से निपटने के...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

मौत के बोरवेल (दैनिक ट्रिब्यून)

आखिर तमाम असहनीय कष्ट सहने के बाद अबोध फतेहवीर जिंदगी की जंग हार गया। कहना सहज नहीं है कि तीन साल पहले दस जून को इस दुनिया में यह बच्चा किसकी लापरवाही से मौत के मुंह में चला गया। उन बोरवेल मालिकों की, जिन्होंने तमाम ऐसी घटनाओं और उसके बाद सुप्रीमकोर्ट के निर्देशों को दरकिनार...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बाकी है अभी समग्रता में मूल्यांकन (दैनिक ट्रिब्यून)

सुनील मिश्र दो दिन पहले मूर्धन्य लेखक, रंगकर्मी और अपनी शख्सियत के अलग ही विद्वान गिरीश कर्नाड का निधन हो गया। उनका योगदान असाधारण था, इसीलिए ही देश के मीडिया ने उनके नहीं रहने से उपजने वाले निर्वात को गम्भीरता से लिया। जिज्ञासा में ज्यादातर लेख पढ़ने में आये और सबमें वही सब एक था...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आईबीसी में सुधार और प्रतिस्पर्धा कानून की समीक्षा जरूरी (बिजनेस स्टैंडर्ड)

सोमशेखर सुंदरेशन नई मंत्री ने वित्त मंत्रालय का प्रभार संभाल लिया है और वह केंद्रीय बजट बनाने में व्यस्त हैं। उनके पास वित्त और कंपनी मामलों के मंत्रालयों का प्रभार है, इसलिए उन्हें बजट के बाद इन मंत्रालयों से जुड़े बहुत से अहम काम करने होंगे। इन मंत्रालयों में बदलावों का प्रबंधन करना उतना ही...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

महत्त्वाकांक्षी कदम (बिजनेस स्टैंडर्ड)

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली नई सरकार में गजेंद्र सिंह शेखावत को नवगठित जलशक्ति मंत्रालय सौंपा गया है। उनका काम अत्यंत कठिन होने वाला है। सरकार की महत्त्वाकांक्षी योजना नल से जल के तहत 2024 तक हर परिवार को जलापूर्ति उपलब्ध कराने के अलावा शेखावत को अंतरराष्ट्रीय और अंतरराज्यीय जल विवादों और नमामि गंगे परियोजना...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

नौकरशाही की चमक (नवभारत टाइम्स)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नौकरशाही से सीधा संवाद करने और उसे गतिशील बनाए रखने की नीति को अपने दूसरे कार्यकाल में भी जारी रखा है। उन्होंने सोमवार को विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों के साथ बैठक की और उन्हें भविष्य के लिए जरूरी दिशा-निर्देश दिए। सबसे पहले तो प्रधानमंत्री ने उनके कामकाज की तारीफ की और...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register