Day: June 4, 2019

विकास के नजरिये से देखें वित्तीय घाटा (दैनिक ट्रिब्यून)

भरत झुनझुनवाला निवर्तमान एनडीए सरकार के वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा वित्तीय घाटे पर नियंत्रण करने की नीति को लागू किया गया था। उनके कार्यकाल के दौरान वित्तीय घाटे में कमी भी आई है लेकिन इस सार्थक कदम के बावजूद देश की आर्थिक विकास दर 7 फीसदी के करीब सपाट रही है। नये वित्त मंत्री के...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

उम्मीदों पर खरा उतरने की चुनौती (दैनिक ट्रिब्यून)

अनूप भटनागर ‘सबका साथ, सबका विकास’ और ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ जैसे नारे के साथ दोबारा सत्तासीन हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली नयी सरकार को देश-दुनिया की तमाम चुनौतियों की रूपरेखा तैयार करते समय देश की महिलाओं को समुचित सुरक्षा प्रदान करना और उनके हितों की रक्षा के मुद्दे को भी प्राथमिकता देनी होगी।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

गर्मी की मार (नवभारत टाइम्स)

इन दिनों लगभग पूरा देश भीषण गर्मी की चपेट में है। करीब दो तिहाई जनसंख्या इसका कहर झेल रही है। देश भर में गर्मी के कारण 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कहा जा रहा है कि थार रेगिस्तान की ओर से आने वाली गर्म हवाओं के कारण तापमान में लगातार इजाफा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पाकिस्तान की करतूत (राष्ट्रीय सहारा)

इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग द्वारा आयोजित रोजा इफ्तार पार्टी में पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने जिस तरह का व्यवहार किया उसके लिए एक ही शब्द प्रयोग किया जा सकता है, बद्तमीजी। अगर इफ्तार में आमंत्रित लोगों के सामने पाकिस्तान की जनता प्रदशर्न करती, विरोध करती तो यह एक हद तक स्वीकार किया जा सकता था। किंतु,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आर्थिक शिथिलता की गिरफ्त में (राष्ट्रीय सहारा)

रणधीर तेजा चौधरी कहना न होगा कि 2014 की तुलना में इस बार राजग सरकार से जनापेक्षाएं और जनांकाक्षाएं कहीं ज्यादा है। विभिन्न वगरे-ग्रामीण, शहरी और कॉरपोरेट-सभी की मोदी सरकार से खासी अपेक्षाएं हैं। कह सकते हैं कि अर्थव्यवस्था के नाजुक दौर में होने से लोगों की सरकार से उम्मीद और भी बढ़ गई है।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बिम्सटेक नेताओं की मौजूदगी (राष्ट्रीय सहारा)

आशीष शुक्ला बीती 23 मई को घोषित चुनाव परिणाम ने स्पष्ट कर दिया कि भारतीय जनता का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भरोसा न केवल बना हुआ है, बल्कि उसमें कहीं-न-कहीं इजाफा हुआ है। भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को 2014 के चुनाव के बनिस्बत मिली अभूतपूर्व सफलता इस बात...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Safety Net That Works (The Indian Express)

Written by Shonar Lala In the run up to the elections, a plethora of redistributive programmes, including farm loan waivers, cash transfers and minimum income guarantees came to the forefront as campaigners sought to balm rural distress. Amongst these is a proposal to launch a revised NREGA 3.0, in which 150 days of employment would...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Sound the secular bugle (The Indian Express)

Written by Mani Shankar Aiyar While for tactical electoral reasons, the Congress and other Opposition parties chose to eschew the word “secularism” in the election campaign, M K Stalin in Tamil Nadu boldly altered the name of the alliance he was leading in his state from “United Progressive Alliance” (UPA) to “Secular Progressive Alliance”. SPA...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Raja Mandala: From Tiananmen to digital dystopia (The Indian Express)

Written by C. Raja Mohan Three decades ago this week, the Chinese Communist Party cracked down hard on student protests demanding the liberalisation of China’s political system. The movement that began on a small scale in the early summer of 1989 in Beijing’s Tiananmen Square spread rapidly to many towns and cities and gained significant...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

For skilling India (The Indian Express)

Written by K P Krishnan, Roopa Kudva Over the last 10 years, the Indian government has undertaken significant efforts in improving both the scale and quality of skilling, like setting up the National Skills Development Corporation (NSDC) in 2009, launching the Skill India mission in 2015, and the flagship skilling initiative, the Pradhan Mantri Kaushal...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register