Day: June 3, 2019

आधी दुनिया को पूरे हक की दरकार (दैनिक ट्रिब्यून)

सुरेश सेठ देश की संस्कृति को हजारों बरसों से भारतीय स्त्री ने जीवंत किया है। लेकिन केवल औपचारिक श्रद्धा की बारिश ने सदियों से उसकी आत्मा को जकड़ा हुआ है। ‘नारी तुम केवल श्रद्धा हो’ से लेकर ‘मैं नीर भरी दु:ख की बदली’ साहित्य की ऐसी अर्चना भरी पंक्तियां हैं, जो आज भी नारी को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जीवन में झलके विकास (नवभारत टाइम्स)

हमें अपनी व्यवस्था की आलोचना करने की आदत सी हो गई है लिहाजा कई बार हम अपनी उपलब्धियों को देख ही नहीं पाते। लेकिन आगे बढ़ने के प्रति उत्साह बना रहे, इसके लिए कभी-कभी हमें ठहरकर सकारात्मक भाव से भी चीजों को देखना चाहिए। पिछले कुछ वर्षों में दुनिया के सामने आई भारत के विकास...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जीवन से बड़ी नहीं कोई परीक्षा (दैनिक ट्रिब्यून)

श्रीप्रकाश शर्मा कदाचित इस सत्य से इनकार करना आसान नहीं है कि इस दुनिया में परीक्षा से सबको डर लगता है। यह सर्वाधिक कुदरती और मानवीय घटना है क्योंकि परीक्षा में पूछे गये प्रश्न हमारी इच्छा के नहीं होते और यही कारण है कि भय और तनाव के माहौल का सृजन होता है। किन्तु इससे...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

फील गुड से आगे (नवभारत टाइम्स)

जिस विशाल बहुमत से नरेंद्र मोदी सत्ता में वापस लौटे हैं, वह अपने आप में इस बात का सबूत है कि आम लोगों में उनके नेतृत्व को लेकर खासा उत्साह है। फिर भी अगर कोई कसर रह गई थी तो मोदी मंत्रिमंडल ने अपनी पहली ही बैठक में कई सकारात्मक फैसले करके उसे पूरा कर...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कितनी नई सिद्ध होगी? (राष्ट्रीय सहारा)

नरेन्द्र मोदी की नई सरकार ने देश की सत्ता संभाल ली है, तो स्वाभाविक ही उसके संदर्भ में पहला स्वाभाविक सवाल यही है कि क्या उसमें नयापन होगा? कहीं ऐसा तो नहीं होगा कि वह बहुत से मामलों में 2014 वाली सरकार की पुनरावृत्ति भर होकर रह जाए? अकारण नहीं कि इन दोनों सवालों से...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारत की बेदखली के मायने (राष्ट्रीय सहारा)

अंतत: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस निष्कर्ष पर पहुंच ही गए कि, ‘‘मैंने यह तय किया है कि भारत ने अमेरिका को अपने बाजार तक समान और तर्कपूर्ण पहुंच देने का आश्वासन नहीं दिया है। इसलिए 5 जून, 2019 से भारत को प्राप्त लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा समाप्त करना बिल्कुल सही है।’ अब विषय...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

As demand slows down (The Indian Express)

Written by Soumya Kanti Ghosh Friday, May 31, was an interesting day in Indian politics and economics. On the economics front, Q4GDP numbers plunged to a 20-quarter low while annual growth came to a five-year low of 6.8 per cent. However, despite much scepticism, India could stick to its fiscal deficit of 3.4 per cent...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Analysis: कांग्रेस की लोकसभा चुनाव में करारी हार, परिवर्तन के बिना मुश्किल दिख रही कामयाबी (दैनिक जागरण)

[आरती जेरथ]। आम चुनाव में करारी पराजय झेलने के बाद कांग्रेस पार्टी में तमाम मान- मनौव्वल के बावजूद राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे को लेकर अडिग बताए जा रहे हैं, तो वहीं कुछ प्रदेश इकाइयों के नेताओं की ओर से भी इस्तीफा देने की बात सामने आ रही है। कांग्रेस इस हार से...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मुस्लिम महिलाओं ने लोक सभा चुनाव में भाजपा को वोट देकर मुमकिन बनाई मोदी सरकार की जीत (दैनिक जागरण)

[ एमजे अकबर ]: वर्ष 1952 में हुए पहले आम चुनाव के साथ ही हर एक चुनाव के साथ कुछ आम धारणाएं लगातार ध्वस्त होती आई हैं। हालांकि इसका कोई एक निश्चित प्रारूप नहीं रहा है। कुछ दौर ऐसे भी रहे जब बदलाव की बयार उतनी तेज नहीं थी और दुविधाग्रस्त मतदाताओं ने खंडित जनादेश...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पाक यदि भारत से संबंध सुधारना चाहता है तो पहले उसे अपने आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करनी होगी (दैनिक जागरण)

[ दिव्य कुमार सोती ]: प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तमाम राष्ट्राध्यक्षों से बधाई संदेश मिले। ऐसे में पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी ट्वीट कर बधाई दी, जिसका प्रधानमंत्री मोदी ने औपचारिक जवाब भी दिया। इसके साथ ही मोदी सरकार की आगे की पाकिस्तान नीति को लेकर...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register