Day: May 17, 2019

तेल आयात प्रतिबंध से उपजा संकट (दैनिक ट्रिब्यून)

पुष्परंजन आप तेल पर प्रतिबंध लगा सकते हैं, मगर किसी शायर और उसके कलाम पर कैसे? संयोग देखिये, ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद ज़रीफ सोमवार को दिल्ली आये और खा़ली हाथ लौट गये। उनकी समकक्ष सुषमा स्वराज ने बता दिया कि ईरानी तेल के आयात पर चुनाव के बाद आने वाली सरकार निर्णय करेगी।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सपनों को हकीकत बनाने की ऊंची उड़ान (दैनिक ट्रिब्यून)

अरुण नैथानी अटलांटिक महासागर पार करने के बाद जब कनाडा के एयरपोर्ट पहुंचने पर आरोही को भारतीय उच्चायुक्त विकास स्वरूप ने तिरंगा थमाया तो उसके शब्द थे- ‘भारत और दुनिया की महिलाओं के लिये मैं यह सब कर पायी, मेरे लिये गौरव का क्षण है। अटलांटिक महासागर के ऊपर उड़ान भरना एक अवर्णनीय अनुभव था। हल्के...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आत्मा-परमात्मा विहीन अंतरात्मा (दैनिक ट्रिब्यून)

महावीर अग्रवाल पहले के जमाने में सिर्फ आत्मा और परमात्मा दो ही चीजें हुआ करती थीं। परमात्मा बैकुंठ में निवास करते थे। आत्मा इहलोक के जीवों में रहा करती थी। पतनशील राजनीति के इस उत्तर-आधुनिक युग में घाघ नेताओं ने एक नई चीज आविष्कृत कर ली है-अंतरात्मा और उसकी आवाज! प्रकटतः अंतरात्मा में आत्मा शामिल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

लेट-लतीफ मॉनसून (नवभारत टाइम्स)

इस साल मॉनसून लेट-लतीफ है। मौसम विभाग ने कहा है कि केरल में वह 6 जून को, यानी पांच दिन की देरी से पहुंचेगा। इससे पहले गैर-सरकारी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने भी मॉनसून के देर से आने का अनुमान जताया था। सामान्य स्थिति में केरल के रास्ते देश में मॉनसून की एंट्री 1 जून को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

हवाई नहीं, बुनियादी उपलब्धियां (राष्ट्रीय सहारा)

बलिराम सिंह जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्रवाद की बात करते हैं, तो विपक्ष उन्हें बुनियादी समस्याओं को लेकर घेरता है, और जब बुनियादी जरूरतों पर बात करते हैं, तो विपक्ष अन्य मुद्दों को तुल देता है। विपक्ष के आरोपों के इतर बुनियादी जरूरतों को लेकर मोदी के पिछले पांच साल के कार्यकाल पर नजर डालें...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

निर्विवाद मारक उग्रवादी (राष्ट्रीय सहारा)

राजेंद्र शर्मा प्रसिद्ध पत्रिका ‘‘टाइम’ के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘‘डिवाइडर इन चीफ’ करार देने के एकदम उपयुक्त होने का ताजातरीन सबूत तमिलनाडु से आया है। केसरिया पलटन और उसके धर्म-संस्कृति के नाम पर राजनीति के तरह-तरह के अभियानों से दूर और काफी हद तक अछूते रहे इस दक्षिणी राज्य में भी, मोदी के राज...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Political ideology vs lived reality (The Indian Express)

Written by D. Raja The protection accorded in the Constitution to people of all faiths embodies an idea of India that represents plurality and tolerance. Attempts are, however, on to give the country a homogenous identity. The strategy to achieve this objective is two-fold. One, forging a monolithic identity for the Hindus that overlooks the...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

A new poriborton (The Indian Express)

Written by Mukulika Banerjee Two villages in West Bengal’s Birbhum district, Madanpur and Chishti, situated on either side of the two-lane Panagarh-Morgram highway, have often reflected the prevailing political atmosphere in the state. Since 1998, I have visited and lived in these villages to carry out research for my upcoming book, Cultivating Democracy. I have...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

In the age of social media, the credibility of content is an important issue (The Indian Express)

Written by Osama Manzar In the digital age, where copious amounts of free information is available in public domain, the menace of misinformation, propaganda and personal attacks is bound to exist. It is certainly not new in the world of social media. In the last few months, however, social media has been at its worst....

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मोदी ने स्मार्ट-पॉलिटिक्स से यह दिखा दिया कि वह जनता से और जनता उनसे कैसे जुड़ी रही पूरे पांच साल (दैनिक जागरण)

[ डॉ. एके वर्मा ]: लोकसभा चुनाव अंतिम पड़ाव पर है। सबकी निगाहें मतदान के आखिरी चरण से ज्यादा नतीजे वाले दिन यानी 23 मई पर लगी हैं। मोदी सरकार को लेकर परस्पर विरोधाभासी आकलन हुए हैं, लेकिन इस दौरान चुनाव प्रचार की रणनीतियों की कम चर्चा हुई। पूरा ध्यान आरोप-प्रत्यारोप पर रहा। विपक्ष की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register