Day: May 7, 2019

कड़ी चुनौती (बिजनेस स्टैंडर्ड)

तमाम ऐसे संकेतक हैं जो यह बताते हैं कि वृहद आर्थिक क्षेत्र में भारत की लंबे समय से चली आ रही बेहतर स्थिति अब समाप्त होने को है। बीते पांच वर्ष के दौरान अनुकूल वैश्विक परिस्थितियों और जिंस कीमतों के कारण भारत की वृहद आर्थिक स्थिति काफी भाग्यशाली रही। इन वैश्विक कारकों ने मुद्रास्फीति को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

For Harmony Between Politics and Business (The Economic Times)

Demonising business for political advantage is bad — in principle and in practice. True, Indian business has not always conducted itself as a paragon of virtue. It has sought favours from the government, diverted funds raised from the public and the banks to private coffers without building the business for which the money was raised,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

CEC, Democracy is Spirit, Not Just Form (The Economic Times)

Chief Election Commissioner (CEC) Sunil Arora violates the core spirit of democracy, a gigantic exercise of which he presides over, when he says that dissent within the commission on key decisions should be kept secret. One member of the commission, Ashok Lavasa, is reported to have argued for reasoned orders by the commission on key...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चीन के गांव (चाइना डेली)

आर्थिक विकास के अनेक दशकों के बावजूद चीन में शहरी और ग्रामीण विकास के बीच चौड़ी खाई है। गांवों में करीब 57 करोड़ लोग हैं। आय, जीवन स्तर और सार्वजनिक सेवा में गांव बहुत पीछे नजर आते हैं। उदाहरण के लिए, ग्रामीणों की औसत आय शहरियों की तुलना में एक तिहाई है। इस असंतुलन को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कहानियों की उंगली थाम वे किताबों तक जा पहुंचते हैं (हिन्दुस्तान)

क्षमा शर्मा वरिष्ठ पत्रकार बचपन की पहली कहानियां हम परिवार से ही सुनते रहे हैं। दादा-दादी की कहानियां, नाना-नानी की कहानियां, ऐसी न जाने कितनी परंपराएं हैं, जो परिवारों में पीढ़ी-दर-पीढ़ी चली हैं। इन कहानियों के राजा-रानी, परियां, जादूगर, उड़ने वाले घोड़े, जादुई पहाड़, मतवाले हाथी, भयानक राक्षस, मायावी भूत-प्रेत कई बार सपनों में आकर...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

चांद पर जीवन और खनिज खोजने की भारतीय पहल (हिन्दुस्तान)

मदन जैड़ा ब्यूरो चीफ, हिन्दुस्तान चंद्रयान-2 को लांच करने में भले ही थोड़ी देरी हो रही हो, लेकिन यह परियोजना भारत के लिए अपनी क्षमता के प्रदर्शन और चांद के बारे में नई खोज को लेकर बेहद अहम साबित होगी। 9-16 जुलाई के बीच प्रक्षेपित होने वाले चंद्रयान-2 की सफलता भारत के लिए अंतरिक्ष कार्यक्रम...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मूरख हृदय न चेत (हिन्दुस्तान)

महेंद्र मधुकर सभी जानते हैं कि अपनी आंखों से अपना चेहरा देखा नहीं जा सकता, वैसे ही अपनी मूर्खता का भी पता नहीं चलता। किसी भी मूर्खता का अनुभव दूसरे को होता है। वैसे संसार में मूर्खता का ‘सर्टिफिकेट’ किसे दिया जाए, यह भी विचारणीय है, क्योंकि लोग तो जैसे जन्म से ही अक्लमंद पैदा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मतदान का 5वां चरण (हिन्दुस्तान)

लोकसभा चुनाव में मतदान का पांचवां और सीटों की संख्या के मामले में सबसे छोटा चरण संपन्न हो गया। इस चरण में सात राज्यों की कुल 51 सीटों पर मतदान हुए हैं और यह चरण सत्तारूढ़ भाजपा के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है। कुल 51 में से 39 सीटों पर पिछली बार भाजपा जीती थी और...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पुलिस का सबसे मुश्किल इम्तिहान (हिन्दुस्तान)

विभूति नारायण राय पूर्व आईपीएस अधिकारी वर्ष 1977 की शुरुआत। देश में सनसनी और उत्तेजना की बयार बह रही थी। किसी बडे़ अंधड़ की तरह आपातकाल देश को झिझोड़ता-झकझोरता गुजर चुका था और हम सभी विनाश की दृश्य और अदृश्य स्मृतियों को बुहारने में लगे थे। इसी समय देश का वह चुनाव हुआ, जिसने भारतीय...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

हरियाणा की दिशा भी बतायेंगे लोस चुनाव (दैनिक ट्रिब्यून)

राजकुमार सिंह हार-जीत हर चुनाव में महत्वपूर्ण होती है, लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव हरियाणा में राजनीतिक दलों-नेताओं का भविष्य भी तय करेंगे। पिछली बार मोदी लहर में हरियाणा में लोकसभा की 10 में से सात सीटें जीतकर चंद महीने बाद ही विधानसभा चुनाव में भी बहुमत से राज्य में सरकार बनाने वाली भाजपा पर...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register