Day: April 4, 2019

निजी क्षेत्र में पेंशन (राष्ट्रीय सहारा)

सुप्रीम कोर्ट ने निजी क्षेत्र के कर्मचारियों की पेंशन में भारी बढ़ोतरी का रास्ता साफ कर दिया है। कुछ व्यावहारिक अड़चनें दूर हो जाएं तो इसका लाभ प्राइवेट सेक्टर के करोड़ों कर्मचारियों को मिलेगा। अभी सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों की पेंशन के बीच कोई तुलना नहीं है। अच्छी-खासी तनख्वाह पाने वाले निजी क्षेत्र...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

इस्तोनिया से सबक ले भारत (राष्ट्रीय सहारा)

शशि कुमार झा लेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन (इवीएम) से लेकर पुराने समय के बैलेट पेपर से मतदान करने का मुद्दा भारत में पिछले कुछ समय से सुर्खियों और विवादों में रहा है। इस संदर्भ में एक छोटे से बाल्टिक देश इस्तोनिया से भारत को सबक लेने की आवश्यकता है। इस्तोनिया के 44 फीसद लागों ने हाल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भाजपा पर गहरा आघात (राष्ट्रीय सहारा)

एनके सिंह चुनावी मौसम में राजनीतिक पार्टयिों का घोषणा पत्र आमतौर पर मतदाताओं के बीच मात्र एक औपचारिकता के रूप में लिया जाता रहा है। हाल के वर्षो में भी यह चैनलों के स्टूडियो में पक्ष-विपक्ष के बीच ‘‘तू-तू-मैं-मैं’ के मुद्दों के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन वर्तमान आम चुनाव जिस तरह देश...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

NYAY: Garibi bachao, not hatao (The Indian Express)

Written by Nidhi Gaur Terror has two faces. One face is easier to recognise, it is the face of extreme fear. If you look at this fear-stricken face for a moment, you will recognize the other face as violence. The Pulwama attack has left us terrorised and hurt. When feeling terrorised, the first thing one...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

NYAY: Garibi bachao, not hatao (The Indian Express)

Written by Surjit S Bhalla It is now official. After the release of the manifesto, the Congress believes its NYAY programme for poverty elimination is a game changer, a political winner, and a winner of advanced thinking on the subject. To bolster this claim, Congress president Rahul Gandhi said the party had consulted “all big...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

The politics of information (The Indian Express)

Written by Rajendran Narayanan, Rakshita Swamy, Nikhil Dey An article in this publication, ‘The learning state: How information becomes insight’ (IE, March 18), written by two economists, has made some important points about “information”, but it is their perspective on “insight” that needs to be challenged. Designing, using and evaluating information systems is all about...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मोदी सरकार की उपलब्धियों का आकलन कर आम चुनावों को गति एवं दिशा देंगे युवा मतदाता (दैनिक जागरण)

[ जगमोहन सिंह राजपूत ]: 2019 के आम चुनावों में करीब 89.61 करोड़ मतदाताओं के भाग लेने की उम्मीद है। 2014 में यह संख्या 83.4 करोड़ थी। अपेक्षा करनी चाहिए कि लगभग सात करोड़ नए मतदाताओं में कम से कम से कम पांच करोड़ तो मतदान करेंगे ही। पिछले पांच वर्षों में इनमें से अधिकांश...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

देश के मतदाताओं ने लोकसभा चुनाव में नेता पुत्रों का राजनीतिक भविष्य तय करने के लिए कसी कमर (दैनिक जागरण)

[ प्रदीप सिंह ]: संसदीय जनतंत्र में वंशवादी पार्टियों और नेताओं की राजनीतिक वय उनकी भावी पीढ़ी की क्षमता, योग्यता, लोकप्रियता और पुरानी पीढ़ी की विरासत को संभालकर रखने की काबिलियत से तय होती है। इस लोकसभा चुनाव में कौन सत्ता में आएगा और कौन नहीं, इससे इतर कई नेताओं और पार्टियों का राजनीतिक अस्तित्व...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारत में जानलेवा वायु प्रदूषण से निपटने के लिए दीर्घकालिक एवं समग्र नीतियों का अभाव (दैनिक जागरण)

इस पर हैरानी नहीं कि एक और रपट भारत में वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर को बयान कर रही है। अमेरिका के हेल्थ इफेक्ट्स इंस्टीट्यूट की इस रपट के अनुसार 2017 में वायु प्रदूषण जनित बीमारियों के कारण दुनिया भर में करीब 50 लाख लोगों की मौत हुई और इनमें 12 लाख लोग भारत के...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

5 साल में इतने सारे काम: कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में लगाई लोक-लुभावन वादों की झड़ी (दैनिक जागरण)

कांग्रेस का घोषणा पत्र जैसे लोक-लुभावन वादों से भरा हुआ है उसे देखकर पहला सवाल तो यही उठता है कि आखिर कोई भी सरकार महज पांच साल में इतने ढेर सारे काम कैसे कर सकती है? अगर कर सकती है तो फिर कांग्रेस ने आजादी के बाद करीब साठ साल तक सत्ता में रहने के...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register