Day: April 2, 2019

चयन प्रक्रिया हेतु नीति बनाना जरूरी (दैनिक ट्रिब्यून)

अनूप भटनागर न्यायाधिकरणों में पूर्व न्यायाधीशों की नियुक्ति के बारे में हाल ही में उच्चतम न्यायालय द्वारा की गयी टिप्पणी बेहद गंभीर है, जिस पर न्यायपालिका और कार्यपालिका दोनों को ही विचार करना होगा। न्यायालय इस दृष्टिकोण से सहमत लगता है कि न्यायाधिकरणों में सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की नियुक्ति न्यायपालिका की स्वतंत्रता पर एक प्रश्नचिन्ह है।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

करतारपुर कॉरिडोर (दैनिक ट्रिब्यून)

पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है अपनी धूर्त चालों से। वह फिर भारत के साथ शातिराना साम्प्रदायिक सियासत खेल रहा है। करतारपुर कॉरिडोर प्रस्ताव की घोषणा के बाद उस पर अमल लाने के मामले में पाकिस्तान ने श्रद्धालुओं की तादाद, प्रवेश के तौर-तरीकों आदि पर बखेड़ा करना शुरू कर दिया है। खासकर श्रद्धालुओं की एंट्री...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

इसरो का एक और कीर्तिमान: एमिसैट सेना के लिए अंतरिक्ष से दुश्मन की गतिविधियों पर रखेगा नजर (दैनिक जागरण)

[ शुकदेव प्रसाद ]: पांच दिन पहले रक्षा अनुसंधान में एक गौरवमयी उपलब्धि के बाद इसरो ने एक और कीर्तिमान रचा। इसरो के ध्रुवीय राकेट पीएसएलवी-सी45 ने पहली बार विभिन्न पेलोड को तीन विभिन्न कक्षाओं में सफलतापूर्वक स्थापित किया। इस राकेट ने भारतीय उपग्रह ‘एमिसैट’ को 749 किमी की ऊंचाई वाली कक्षा में स्थापित किया।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

50 फीसद मतदान पर्चियों का मिलान ईवीएम से करने को लेकर विपक्ष ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा (दैनिक जागरण)

कुछ राजनीतिक दल किस तरह गैर-जरूरी मसलों को बेवजह लंबा खींचते हैैं और ऐसा करके अपना और साथ ही देश का वक्त जाया करते हैैं, इसकी ही मिसाल है इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीनों की 50 फीसद मतदान बाद की पर्चियों का मिलान करने की जिद। पता नहीं 21 विपक्षी दल सुप्रीम कोर्ट में निर्वाचन आयोग की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मौकापरस्ती का सिद्धांत (पत्रिका)

चुनाव आते ही हर बार की तरह इस बार भी दल-बदल का सिलसिला जिस तरह जारी है, उसे देखकर कहा जा सकता है कि राजनीति में अवसरवाद ही अब सबसे महत्त्वपूर्ण ‘वाद’ रह गया है। भाजपा से टिकट न मिलने के बाद सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कांग्रेस में शामिल होकर पटना साहिब क्षेत्र से चुनाव...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संवैधानिक अधिकारों के रक्षक (प्रभात खबर)

आकार पटेल, कार्यकारी निदेशक, एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया आगामी कुछ ही महीनों में एक बड़े गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) के प्रमुख के रूप में मेरा कार्यकाल समाप्त हो जायेगा. मैंने सोचा कि मुझे इस क्षेत्र के बारे में लिखना चाहिए और अपने सुधी पाठकों को बताना चाहिए कि पिछले चार वर्षों तक यहां काम करने के दौरान...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अकर्मण्य बनाना है न्यूनतम आय देना! (प्रभात खबर)

डॉ अश्वनी महाजन,एसोसिएट प्रोफेसर, डीयू लोकसभा चुनाव अब सिर पर हैं और राजनीतिक पार्टियां चुनावी गुणा-गणित में लगी हुई हैं. इसी बीच कांग्रेस ने कहा है कि वह 20 प्रतिशत गरीब परिवारों के लिए 6,000 रुपये प्रतिमाह की न्यूनतम आय सुनिश्चित करेगी. हालांकि, इस बात को लेकर स्पष्टता नहीं है कि क्या इन 20 प्रतिशत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बेनकाब होता चीन (पत्रिका)

चौकीदार चोर है’ और ‘मैं भी चौकीदार’, लगता है देश की चुनावी राजनीति इन छह अक्षरों में सिमट कर रह गई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत भाजपा और एनडीए के नेता जहां रैलियों में ज्यादातर समय खुद को देश का सफल चौकीदार बता रहे हैं, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत ज्यादातर विपक्षी नेता एनडीए...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बेनकाब होता चीन (पत्रिका)

मसूद अजहर मुद्दे पर चर्चा कराने का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में आ सकता है। ऐसा हुआ तो चीन को वैश्विक बिरादरी के सामने शर्मिंदगी झेलनी पड़ सकती है। मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में चीन के दखल ने उसे पूरी दुनिया के सामने बेनकाब कर दिया है। पूरी दुनिया जब आतंकवाद के खिलाफ...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चुनावी गर्मी में किसानों पर पाला (पत्रिका)

एन.एस. राठौड़, कृषि विज्ञानी हमारा देश कृषि क्षेत्र में नई चुनौतियों का सामना कर रहा है। अनेक स्थान ऐसे हैं जो पानी की कमी को झेल रहे हैं। बीते वर्षों में पानी की कमी के कारण कृषि भूमि में नमी की कमी होती जा रही है। यदि हमने समय रहते अपनी कृषि के तौर-तरीकों को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register