Day: March 15, 2019

बदलाव की बयार लाई किसान चाची (दैनिक ट्रिब्यून)

अरुण नैथानी एक बंद समाज की दहलीज लांघकर अपना नया मुकाम तय करना किसी स्त्री के लिये आसान नहीं होता। फिर पुरुष के वर्चस्व वाले क्षेत्र में पहचान बनाना और परिवार को आत्मनिर्भर बनाने के साथ हजारों चूल्हों को जलाना आसान नहीं है। मगर बिहार के मुजफ्फरपुर के सरैया प्रखंड के गांव आनंदपुर की राजकुमारी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चुनावी मोर्चे पर कांग्रेस (नवभारत टाइम्स)

कांग्रेस ने अपना चुनावी बिगुल फूंक दिया है। अहमदाबाद में अपनी कार्यसमिति की बैठक में पार्टी ने अपनी चुनावी रणनीति के संकेत दिए और प्रियंका गांधी ने यहीं से बाकायदा अपने चुनावी अभियान और पॉलिटिकल करियर की शुरुआत की। अहमदाबाद में कार्यसमिति की बैठक आयोजित कर कांग्रेस ने यह संदेश भी देना चाहा है कि...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चीन की सरपरस्ती में आतंकी सरगना मसूद (दैनिक ट्रिब्यून)

पुष्परंजन पन्द्रह दिन पहले बूझेन में सुषमा स्वराज चीनी विदेशमंत्री वांग यी से मिली थीं। 27 फरवरी 2019 को रूस, चीन और भारतीय विदेशमंत्रियों ने बैठक कर ‘मैच्योर डिप्लोमेसी’ करने का संकल्प किया था। यह बैठक पुलवामा हमले के बाद हुई थी। यहां क्षेत्रीय शांति व विकास के वास्ते आपसी संवाद को सबसे कारगर उपाय...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

समग्र विकास की ओर (दैनिक ट्रिब्यून)

सामाजिक ढांचे के विकास में अधिक निवेश से लोगों की कार्यक्षमता-कार्यकुशलता दोनों ही बढ़ती हैं। समाज का विकास व आर्थिक उन्नति भी काफी तेजी से होती है। जब किसी राज्य में आर्थिक विकास होता है तो सरकार सामाजिक विकास के मूल्यों जैसे कि शिक्षा, स्वास्थ्य सामाजिक-आर्थिक विकास और लोगों की कार्यकुशलता की बेहतरी में और...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

फिर चीन का अड़ंगा (नवभारत टाइम्स)

जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने की कोशिशों में चीन ने फिर अड़ंगा लगा दिया है। अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव रखा था लेकिन चीन ने अंतिम समय में अपनी वीटो की ताकत का इस्तेमाल करते हुए उसे चौथी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

राफेल और राष्ट्रीय सुरक्षा (राष्ट्रीय सहारा)

सर्वोच्च न्यायालय ने तय किया है कि राफेल सौदे के विरुद्ध दायर पुनर्विचार याचिका पर अंतिम फैसला देने के पहले वह केंद्र सरकार की आपत्तियों और उनकी वैधताओं पर विचार करेगा। फिर वह याचिकाकर्ताओं की तरफ से पेश किये गए तयों पर गौर करेगा। रक्षा मंत्रालय ने पुनर्विचार याचिका को इस आधार पर खारिज करने...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

फिर दीवार बना चीन (राष्ट्रीय सहारा)

जैश ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की तरफ से नियंतण्र आतंकी घोषित करने की कोशिशमें चीन फिर दीवार बन गया। ऐसा उसने एक दशक में चौथी बार किया है। सुरक्षा परिषद में यह प्रस्ताव अमेरिका, फ्रांस और इंग्लैंड की तरफ से लाया गया था। इसकी आशंका थी कि चीन मसूद...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मानव सभ्यता का संकट (राष्ट्रीय सहारा)

सन्नी कुमार नई प्रौद्योगिकी जीवन को बेहतर बनाने के जितने दावों के साथ मानव जीवन में प्रवेश करती है, उससे जुड़ी आशंकाएं भी उतनी ही मजबूत होती हैं। ‘‘आर्टििफशियल इंटेलीजेंस’ (एआई) की प्रौद्योगिकी भी इस सिद्धांत का अपवाद नहीं है बल्कि कई मायनों में यह पूर्व की तुलना में अधिक आशंकामूलक है। दरअसल, पूर्व की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

उन्मत्त राष्ट्रवाद और चुनाव (राष्ट्रीय सहारा)

राजेंद्र शर्मा पुलवामा की घटना से लेकर, चुनाव की तारीखों की घोषणा के बीच गुजरे तीन सप्ताह से कुछ ज्यादा के दौरान सत्ताधारी भाजपा ने जो कुछ कहा और किया है, उसके बाद इसमें किसी संदेह की गुंजाइश नहीं रह जाती है कि उसके हिसाब से उसके हाथ बाजी पलटने वाला मुद्दा लग गया है।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

A vote on national security (The Indian Express)

Written by Shyam Saran In the wake of Pulwama and Balakot, national security may become the key issue in the forthcoming general elections. A focus on national security is assumed to bring advantage to the ruling BJP as it could sweep aside the Opposition’s efforts to leverage the failures of the government on generating employment...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register