Day: February 20, 2019

देश को चाहिए समग्र राष्ट्रीय सुरक्षा नीति (दैनिक ट्रिब्यून)

श्याम सरन पुलवामा आतंकी हमला हमें घटना उपरांत स्थितियों से निपटने और इस किस्म की घटनाओं की पुनरावृत्ति से रोकथाम के विकल्प तेजी से तलाशने को मजबूर करता है। कोई हादसा होने के बाद प्रतिक्रिया किस तरह की जाए, इस विषय में कालांतर में अनेकानेक आतंकी हमले झेलने के कटु अनुभवों के बावजूद भारत सरकार...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सौर ऊर्जा बेहतर भविष्य का विकल्प (दैनिक ट्रिब्यून)

भरत झुनझुनवाला बिजली के चार प्रमुख स्रोत हैं। पहला स्रोत थर्मल यानी कोयले अथवा ईंधन तेल से उत्पादित बिजली का है। दूसरा स्रोत सौर ऊर्जा का है। तीसरा स्रोत पनबिजली यानी जल विद्युत अथवा हाइड्रोपॉवर का है और चौथा परमाणु ऊर्जा का है। इन चार स्रोतों में वर्तमान में सौर ऊर्जा सबसे सस्ती पड़ रही...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बम जैसा पाकिस्तान (नवभारत टाइम्स)

पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग कर देने की भारतीय कोशिशें जारी हैं। लेकिन अभी इस खंडहरनुमा देश के बाकी दोनों पड़ोसियों ईरान और अफगानिस्तान ने उसके खिलाफ राजनयिक दायरे में जैसा सख्त रुख अपना रखा है, उसके लिए भारत का कोई...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

क्या हो बेहतर विकल्प ? (राष्ट्रीय सहारा)

यद्यपि पुलवामा आक्रमण से जुड़े कुछ सवालों का अभी तक जवाब नहीं मिला है, मोदी सरकार पाकिस्तान को ‘‘दंडित’ करने के लिए कटिबद्ध दिखती है। और ऐसा करना चांद तोड़ लाने से कम नहीं होगा! सवाल उठता है कि टीम-मोदी के पास पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए कौन से विकल्प मौजूद हैं? सर्जिकल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Soldiering on, after Pulwama (The Indian Express)

Written by Abhinav Kumar Another bloody strike in Kashmir has left the nation in shock and disbelief. The 40 CRPF bravehearts who were killed in a suicide car bomb attack near Lethpura, Pulwama, on February 14, came from all corners of the country. As the nation mourned, in a predictable display of defiance, a section...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Ruse Of Gender Justice (The Indian Express)

Written by Sushmita Dev All government policies must be judged keeping two things in mind: The circumstances at the time of introducing a legislation and the actual impact of a law. The Supreme Court (SC) judgment of 1985 that allowed Shah Bano to claim maintenance under the Code of Criminal Procedure was applauded as a...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

A promissory note (The Indian Express)

Written by Avnee Dhamija, Navdeep Mathur If one does a simple web search for corporate fraud, financial scandals, aggressive marketing of toxic products or other forms of corporate malfeasance, we get a list of some of the biggest names in the industry. Be it oil companies, financial institutes, pharmaceuticals, cosmetics, auditing firms, consulting giants, or...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

A promissory note (The Indian Express)

Written by Udayan Mukherjee Something important happened at Sharad Pawar’s residence last week. Not that the Opposition leaders met again — there have been plenty of these recently. But, there was talk of a Common Minimum Programme (CMP) — something a lot of citizens, particularly those disillusioned with the performance of the current NDA government,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अलगाववादियों पर अंकुश के लिए केंद्र सरकार को हरसंभव उपायों को लाना होगा अमल में (दैनिक जागरण)

[प्रमोद भार्गव]। यह भारत जैसे उदार व सहिष्णु देशों में ही संभव है कि आप अलगाव और देशद्रोह का खुलेआम राग अलापिए, मासूम युवाओं को भड़काइए, राष्ट्र की संपत्ति को नुकसान पहुंचाइए, बावजूद आपका बाल भी बांका होने वाला नहीं है? पाकिस्तान के समर्थन में और भारत के विरोध में नारे लगाने वाले ऐसे लोगों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पुलवामा आतंकी हमले को लेकर इमरान खान ने पाकिस्तान की लिप्तता के सुबूत मांगे (दैनिक जागरण)

पुलवामा में भीषण आतंकी हमले के कई दिन बाद इस घटना पर कुछ बोलने के लिए आगे आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने ऐसा कुछ भी नहीं कहा जिससे पाकिस्तान पर भरोसा किया जा सके। इमरान ने हमेशा की तरह आतंकी हमले में पाकिस्तान की लिप्तता के सुबूत मांगकर देश-दुनिया को गुमराह करने की ही...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register