Day: January 23, 2019

जींद देगा भावी राजनीति का संकेत (दैनिक ट्रिब्यून)

राजकुमार सिंह अकसर उपचुनाव परिणाम सत्तारूढ़ दल के ही पक्ष में जाते हैं, पर अपवाद भी कम नहीं। उत्तर प्रदेश में भाजपा ने पहले लोकसभा और फिर विधानसभा चुनावों में जबरदस्त जीत हासिल की, लेकिन उसके बाद हुए तीनों लोकसभा उपचुनावों में परास्त हो गयी। मतदाता अपनी ताकत दिखाने पर आ जायें तो फिर मुख्यमंत्री...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सीमा पर परिवहन तंत्र (दैनिक ट्रिब्यून)

भारतीय वायुसेना विजय नगर एयरफ़ील्ड को विकसित करने की योजना बना रही है। विजय नगर चीन की सीमा पर एक अलग-थलग पठार है और चारों तरफ से जंगलों से घिरा हुआ है। यह एडवांस लैंडिंग ग्राउंड या फिर टेंपरेरी एयरफील्ड उन 7 निर्धारित स्थानों में से है, जिन्हें पिछले 8 वर्षों में विकसित करने की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

नियुक्ति-पदोन्नति में पारदर्शिता जरूरी (दैनिक ट्रिब्यून)

अनूप भटनागर उच्चतम न्यायालय में दो न्यायाधीशों की नियुक्ति को लेकर उठे विवाद के बाद एक बार फिर न्यायाधीशों की नियुक्ति और उनकी पदोन्नति की मौजूदा कॉलेजियम व्यवस्था सुर्खियों में है। इस बार भी कॉलेजियम ने उच्च न्यायालयों के कई न्यायाधीशों की वरिष्ठता को नजरअंदाज करते हुए दो न्यायाधीशों की पदोन्नति की सिफारिश की थी।...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बाहर बसे अपने लोग (नवभारत टाइम्स)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में आयोजित तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन को ऐतिहासिक बनाने के हर संभव प्रयास किए गए हैं। सरकार की इन कोशिशों को इस अर्थ में कामयाब माना जाएगा कि इसमें प्रवासी भारतीयों की भागीदारी ने पिछले तमाम रेकॉर्ड तोड़ दिए। डेढ़ सौ देशों के 5000 से ज्यादा प्रवासी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आजाद फौज के नेताजी (राष्ट्रीय सहारा)

देवेन्द्र सुथार स्वाधीनता संग्राम में नवीन प्राण फूंकने वाले नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी, 1897 को ओडिशा (उड़ीसा) के कटक में हुआ था। उन्हें स्वामी विवेकानंद की आदर्शता और कर्मठता ने सतत आकर्षित किया। अपनी स्कूली पढ़ाई कटक के मिशनरी स्कूल व कॉलेजियट स्कूल से करने के बाद 1915 में प्रेसीडेंसी कॉलेज...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

बढ़ती आय असमानता (राष्ट्रीय सहारा)

ऑक्सफेम इंटरनेशनल ने भारत में अमीरी और गरीबी के बीच बढ़ती खाई के सम्बन्ध में जो रिपोर्ट जारी की है, उसमें हैरान करने वाली कोई बात नहीं है। इस रिपोर्ट का निष्कर्ष पूंजीवाद का स्वाभाविक परिणाम है, क्योंकि हमने जो मुक्त अर्थव्यवस्था अपनाई, उस व्यवस्था में ऐसा ही होता है। हमारी चुनावी राजनीति भी पूंजीपतियों...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

खिलाफ हवा से गुजरते हुए (राष्ट्रीय सहारा)

कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में ममता बनर्जी के आह्वान पर मोदी के खिलाफ समूचे राष्ट्रीय विपक्ष की विशाल सभा से फिर एक बार 2019 के चुनाव के मद्देनजर जनमानस में चल रही व्यापक उथल-पुथल का साफ संकेत मिला। वोटों के शुद्ध गणित के आधार पर ही कहा जा सकता है कि भारतीय राजनीति का...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सामान्य समझदारी की हैकिंग: EVM को लेकर हैकर सैयद शुजा की मनगढ़ंत कहानी (दैनिक जागरण)

नई दिल्ली, राजीव सचान। यह पहली बार नहीं जब मीडिया के लोग या उनका कोई एक समूह या संगठन किसी के झांसे में आया हो। ताजा मामले का जिक्र करने से पहले कुछ पुराने मामलों की चर्चा करना ठीक रहेगा। बहुत समय नहीं हुआ जब पूर्वी उत्तर प्रदेश के एक किशोरवय छात्र ने यह दावा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अफवाहों से घिरा नागरिकता विधेयक (दैनिक जागरण)

नई दिल्ली, राम माधव। यह पिछली सदी के आखिरी दशक की बात है जब असम में असम गण परिषद सरकार ने राज्य के छह समूहों को अनुसूचित जनजाति यानी एसटी का दर्जा देने की पहल की। इनमें ताई-अहोम, मोरान, मटक, कोच राजबोंगशी आदि जनजाति समूहों के नाम शामिल हैं। इस प्रस्ताव को संसद में खारिज...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

The crisis of imbalance in the world economy (Hindustan Times)

The World Economic Forum (WEF), an annual event held in the Swiss ski resort of Davos, has become a symbol of global capitalism. Oxfam, an international advocacy organisation, releases its global report on inequality to coincide with the WEF to question the rising inequality which has accompanied the current phase of capitalism. The findings of...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register