Day: January 15, 2019

हिंदी की अनिवार्यता (पत्रिका)

ऐसा लगता है कि अपने अधिकतर वादों को पूरा करने में नाकाम रहने के बाद भाजपा सरकार आम चुनाव से कुछ महीनों पहले जल्दबाजी में कई ऐसे फैसले करने का मन बना चुकी है जिससे कम से कम उसके इरादों पर शक नहीं किया जाए। आर्थिक आधार पर गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण का लाभ...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

देश में बढ़ रही ‘बेरोजगार’ युवक-युवतियों की फौज (पंजाब केसरी)

देश में 3 करोड़ से अधिक युवा बेरोजगार हैं। वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के समय श्री नरेन्द्र मोदी ने युवाओं के लिए 1 करोड़ नौकरियां सृजित करने का वायदा किया था, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ।  ‘स्टेट ऑफ वर्किंग इंडिया 2018’ की रिपोर्ट के अनुसार इस समय पिछले 20 वर्षों में देश में...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संकट जो अपनों ने पैदा किया (हिन्दुस्तान)

विभूति नारायण राय पूर्व कुलपति सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा की चौबीस घंटों की हालिया बहाली और फिर तबादले ने जो यक्ष प्रश्न खड़ा किया है, उसे एक राष्ट्रीय दैनिक में छपे कार्टून से बेहतर समझा जा सकता है। इस कार्टून में प्रधानमंत्री मोदी के हाथ में एक पिंजड़ा है और उसमें बंद तोते के बारे...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आतंक के खिलाफ (जनसत्ता)

उज्बेकिस्तान की राजधानी समरकंद में भारत, अफगानिस्तान और पांच मध्य एशियाई देशों ने एकजुट होकर आतंकवाद से निपटने का संकल्प लिया है। भारत सहित ये सारे वे देश हैं जो किसी ने किसी न रूप में आतंकवाद की मार झेल रहे हैं। खासतौर पर अफगानिस्तान तो तालिबान के आतंक से लगभग तबाह ही हो चुका...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

असंतोष की राह (जनसत्ता)

गन्ना किसानों की समस्याओं के ठोस हल के लिए लंबे समय से मांग उठाई जाती रही है। जब भी जमीनी स्तर पर विरोध के स्वर तेज होते हैं, तब सरकारें आश्वासन के तौर पर इस तरह के बयान जारी करती हैं कि जल्दी ही गन्ना किसानों की सारी शिकायतों को दूर कर दिया जाएगा। लेकिन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

A hasty UBI roll-out can do more bad than good (Hindustan Times)

Speculations are rife about a big announcement by the Narendra Modi government to assuage the rural economy before the 2019 general elections. Sections within both academia and policy making believe that a Universal Basic Income (UBI) scheme is a better way to do this. The idea has gained traction after the Telangana Rashtra Samithi (TRS)...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

What the Congress needs to do in Uttar Pradesh (Hindustan Times)

The Congress has decided to contest all 80 seats in Uttar Pradesh. Paradoxical as it may sound, the decision is born both out of choice and compulsion. Many within the party, particularly in the state unit, strongly advocated going it alone. This, they argued, would help in the process of Congress revival in the state...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आजाद मीडिया के पक्ष में तर्क (प्रभात खबर)

मृणाल पांडे, ग्रुप सीनियर एडिटोरियलएडवाइजर, नेशनल हेराल्डmrinal.pande@gmail.com देश के हर चौराहे, चायखाने, पान की दुकान और शिक्षा परिसर में आजकल भारतीय लोकतंत्र के भविष्य पर चिंता जतायी जा रही है, नाना अटकलें लगायी जा रही हैं. और इन अटकलों का स्रोत मीडिया है, पारंपरिक या सोशल मीडिया. आजादी के सत्तर वर्षों बाद देश जनता को जागृत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कृषि में बेहतर होता बिहार (प्रभात खबर)

केसी त्यागी, राष्ट्रीय प्रवक्ता, जदयू पिछले लोकसभा चुनाव से अब तक 10 राज्यों में भाजपा व कांग्रेस की सरकारों द्वारा किसानों के 2,33,069 करोड़ रुपये की कर्जमाफी की घोषणा की जा चुकी है. हाल ही में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में की गयी कर्जमाफी के बाद तेज बहस भी हुई कि क्या कर्जमाफी मौजूदा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

महिलाओं का सम्मान करना सीखें (प्रभात खबर)

आशुतोष चतुर्वेदीप्रधान संपादक, प्रभात खबरashutosh.chaturvedi@prabhatkhabar.in पिछले दिनों महिलाओं के अपमान की कई घटनाएं सामने आयी हैं. ये घटनाएं इस बात की ओर इशारा करती हैं कि देश में यह धारणा अब भी मजबूत है कि स्‍त्री का दर्जा दोयम है और पुरुष से नीचे है. आश्चर्य तब होता है, जब जाने-माने लोग भी सार्वजनिक रूप...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register