Day: January 11, 2019

सीबीआइ की साख (पत्रिका)

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) की साख वर्तमान राजनीतिक माहौल में शक और शुब्हे में है। कुछ समय पहले इस प्रमुख जांच एजेंसी में जो घटनाक्रम चला उसने इसकी साख को बट्टा ही नहीं लगाया, बल्कि उसे शर्मसार भी किया। एजेंसी ने अपने ही दूसरे नंबर के अधिकारी राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आश्रय स्थलों में बच्चे-बच्चियों का हो रहा मानसिक और शारीरिक शोषण (पंजाब केसरी)

देश भर में बच्चों के आश्रय स्थलों की सुरक्षा व प्रबंधन में घोर अनियमितताओं पर सवाल उठ रहे हैं। बिहार के मुजफ्फरनगर में गत वर्ष एक सैक्स स्कैंडल सामने आने के बाद विभिन्न आश्रयगृहों पर छापेमारी के बाद केंद्रीय महिला एवं बाल कल्याण मंत्रालय ने अनेक आश्रयगृहों को बंद कर दिया है।  मुजफ्फरनगर बालिका गृह...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जमीनी जरूरत और चुनावी कदम (हिन्दुस्तान)

चंदन कुमार शर्मा प्रोफेसर तेजपुर विश्वविद्यालय, असम पूर्वोत्तर, खासतौर से असम को छोड़कर देश में कहीं भी नागरिकता संशोधन विधेयक, 2016 पर कोई खास प्रतिक्रिया नहीं दिख रही है। जन-प्रतिनिधि तक इस मसले पर उदासीन दिख रहे हैं। बुधवार को राज्यसभा में इस पर बहस होनी थी, लेकिन इसे पेश तक नहीं किया गया। ऐसा...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

अपराध की रेल (जनसत्ता)

रेल गाड़ियों में लूटपाट की घटनाओं और उनसे यात्रियों को निजात दिलाने का मुद्दा लंबे समय से उठता रहा है। पर इस ओर अब तक कोई ठोस पहलकदमी नहीं हुई है, जिससे लगे कि किसी व्यक्ति को ट्रेन से कहीं आने-जाने में सुरक्षा संबंधी कोई फिक्र करने की जरूरत नहीं है। नतीजा यह है कि...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जीएसटी का रुख (जनसत्ता)

वस्तु एवं सेवाकर यानी जीएसटी लागू होने के बाद से अब तक लगातार इसकी दरों की समीक्षा होती आ रही है। इसी क्रम में सरकार ने उद्यमों की न्यूनतम आय सीमा बढ़ा कर दोगुना करने का फैसला किया है। अभी तक उद्योगों की न्यूनतम आय सीमा बीस लाख रुपए थी, पर नए संशोधन में यह...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

There is an inherent gender bias in India’s scientific community (Hindustan Times)

Never one to shy away from straight talking, textile minister Smriti Irani severely dampened the self-congratulatory mood at the Indian Science Congress by calling out the inherent gender bias in the scientific community that is denying opportunities and jobs to women. Addressing scientists, who work in fields that value rationality, objectivity and meritocracy, Ms Irani...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

Mehbooba Mufti has fallen back on the soft separatism card (Hindustan Times)

There has been a political chill in Kashmir since the collapse of the People’s Democratic Party(PDP)-Bharatiya Janata Party(BJP) coalition government last summer. But, the Centre’s statement of intent in Parliament on its readiness to hold the assembly elections in Jammu and Kashmir along with the Parliamentary contest in the next five months has caused a...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

उत्तर प्रदेश से निकलते संकेत (प्रभात खबर)

नवीन जोशी, वरिष्ठ पत्रकारnaveengjoshi@gmail.com बहुजन समाज पार्टी की नेत्री मायावती कभी किसी गैर पार्टी के नेता के समर्थन में खुल कर सामने नहीं आतीं. मुद्दा आधारित समर्थन भले उन्होंने किसी को दिया हो, लेकिन किसी नेता के बचाव में उनका खड़ा होना दुर्लभ है. चंद रोज पहले उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को व्यक्तिगत रूप से...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारतीय विज्ञान की प्रामाणिकता ! (प्रभात खबर)

अभिषेक कुमार सिंह, टिप्पणीकार जालंधर में संपन्न भारतीय राष्ट्रीय साइंस कांग्रेस की 106वीं बैठक की उपलब्धियों की चर्चा जब होगी, तब होगी, फिलहाल वह विज्ञान के मिथकीय उल्लेखों का अखाड़ा बन गयी. इसमें एक बार फिर प्राचीन मिथकों के हवाले से कहा गया कि रामायण-महाभारत कोई मिथकीय ग्रंथ नहीं, बल्कि इतिहास हैं और इनमें वर्णित...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

The opportunities for investors in stressed power assets (Livemint)

Suvojoy Sengupta , Pranav Potbhare In upward economic trend and better distribution connectivity have set India’s power sector for demand growth, yet it continues to face intrinsic challenges that could still upset the applecart. Power demand growth is now about 5% compared with historical rates of 8-10%, while thermal generation capacity has gone up significantly...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register