Day: January 7, 2019

जनता ताने दे तो भी मुस्कुराना सीखें नेता (पत्रिका)

करन  थापर वरिष्ठ पत्रकार और टीवी शख्सियत अब जबकि 2019 आ चुका है, हम फिलहाल इतनी उम्मीद तो कर ही सकते हैं कि आने वाला वर्ष बीते हुए वर्ष से बेहतर हो। आगामी एकाध हफ्ते में हालांकि ऐसी उम्मीदें छीज जाएंगी, यथास्थिति वापस भीतर घर कर जाएगी और आकांक्षाएं एक बार फिर छटपटाने लगेंगी। इसके...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारत-नेपाल रिश्तों पर नोटबंदी की छाया (पत्रिका)

शोभना जैन, वरिष्ठ पत्रकार नोटबंदी ने पड़ोसी देश नेपाल के साथ भारत के द्विपक्षीय रिश्तों में भी उथल-पुथल मचा दी है। हाल ही नेपाल द्वारा भारत के बड़े नए नोटों को अपने यहां मान्यता नहीं दिए जाने के फैसले से दोनों देशों के संबंधों को ‘सहज’ किए जाने के प्रयासों को बड़ा झटका लगा है,...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

खोखले दावों का बाजार (पत्रिका)

बाजार में शुगर फ्री का दावा करने वाली कंपनियों के खाद्य व पेय पदार्थ में मिलाए जाने वाले स्वीटनर में भी चीनी जैसे ही नुकसान हैं। ब्रिटिश मेेडिकल जनरल में इस संबंध में प्रकाशित शोध सचमुच चौंकाने वाला है। वह भी ऐसे दौर में, जबकि भारत समेत दुनिया के दूसरे देशों में मधुमेह यानी डायबिटीज...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

प्रभाव महिला मताधिकार का (पंजाब केसरी)

लिंग समानता के मामले में 169 देशों में भारत का स्थान 130वां है परंतु जब बात महिलाओं की राजनीतिक भागीदारी की आती है तो मामला एकदम अलग हो जाता है क्योंकि यह केवल निर्णय लेने की प्रक्रिया में हिस्सा लेने, राजनीतिक सक्रियता, राजनीतिक जागरूकता आदि तक ही सीमित नहीं है।  देश के स्वतंत्रता आंदोलन में...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

‘स्वच्छ भारत मिशन’ में बने शौचालय कम समय में ही खराब होने लगे (पंजाब केसरी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में शौचालयों की जरूरत का उल्लेख किया व इसी सिलसिले में सरकार ने महात्मा गांधी के जन्म की 150वीं वर्षगांठ पर 2 अक्तूबर, 2019 तक, भारत को खुले में शौचमुक्त (ओ.डी.एफ.) करने का लक्ष्य घोषित किया।  इस संबंध में ग्रामीण विकास...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

किताबों और मेलों के बीच युवा पीढ़ी (हिन्दुस्तान)

हरिवंश चतुर्वेदी डायरेक्टर, बिमटेक नए वर्ष के आगमन के साथ पुस्तक मेलों का सिलसिला भी शुरू हो गया है। फिलहाल दिल्ली में विश्व पुस्तक मेला शुरू हुआ है। अगले दो-तीन महीनों में कोलकाता, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, पटना और भुवनेश्वर में होने वाले पुस्तक मेलों में भीड़-भाड़ दिखाई देगी। इन पुस्तक मेलों में आने वाली...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आइए लोकतंत्र को अर्थवान बनाएं (हिन्दुस्तान)

शशि शेखर इस साल देश में आम चुनाव होने हैं और इस नाते हमारे-आपके कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी खुद-ब-खुद आ जाती है। संसार के सबसे बडे़ लोकतंत्र में मतदाता की हैसियत से हमें तय करना है कि आने वाले पांच साल हम अपने वतन को किन लोगों को सौंपने जा रहे हैं? साथ ही...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संपादकीय: सर्दी का सितम (जनसत्ता)

उत्तर भारत इन दिनों ठंड की चपेट में है। कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड आदि पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी से जनजीवन ठप-सा है। मैदानी इलाकों में भी कई जगह पारा शून्य से नीचे चल रहा है। हिमाचल में सक्रिय हुई पश्चिमी हवाओं से शीतलहर चल रही है। राज्य के कुछ मैदानी इलाकों का तापमान तो शिमला...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

संपादकीय: मनमानी का खनन (जनसत्ता)

नदियों से अतार्किक ढंग से रेत निकालने की वजह से अनेक जगहों पर पर्यावरण को गंभीर खतरा पहुंचा है। इसलिए राष्ट्रीय हरित अधिकरण यानी एनजीटी ने मनमनाने तरीके से रेत खनन पर प्रतिबंध लगा दिया था। मगर रेत के धंधे में बेपनाह कमाई होने की वजह से रसूखदार ठेकेदार मंत्रियों-अधिकारियों से साठगांठ कर अवैध खनन...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

मीडिया को तो बख्श दीजिए (प्रभात खबर)

आशुतोष चतुर्वेदी, प्रधान संपादक, प्रभात खबर ashutosh.chaturvedi@prabhatkhabar.in मीडिया पर एकतरफा टीका-टिप्पणी करने का चलन इधर बढ़ता जा रहा है. कोई भी और कभी भी पूरे मीडिया जगत के विषय में बयान दे देता है और उसकी विश्वसनीयता पर सवाल खड़े कर देता है. मीडिया ही ऐसा माध्यम है, जो आप तक सूचनाएं पहुंचाता है, आपके...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register