Category: हिन्दी संपादकीय

अमेरिका के एक फैसले से भारत को हो सकता है बड़ा नुकसान, रोजगार पर भी संकट (दैनिक जागरण)

डॉ. जयंतीलाल भंडारी। कुछ समय पहले तक अमेरिका और चीन के मध्य ट्रेड वॉर गहराने का परिदृश्य उभर रहा था, लेकिन अब हालात बदल रहे हैं। बीते सप्ताह ट्रंप ने अमेरिकी संसद को एक पत्र के जरिये भारत को जनरलाइज्ड सिस्टम प्रिफरेंस (जीएसपी) कार्यक्रम से बाहर करने के अपने इरादे से अवगत कराया। इस कार्यक्रम...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

आतंकी अजहर पर मेहरबान चीन: भारत को अपनी चीन नीति पर नए सिरे से विचार करना चाहिए (दैनिक जागरण)

[ संजय गुप्त ]: पाकिस्तान में पोषित और संरक्षित आतंकी संगठन जैश ए मुहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र की पाबंदी लगाने के लिए आए प्रस्ताव पर चीन ने एक बार फिर अड़ंगा लगा दिया। यह प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के तीन स्थाई सदस्यों फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका के साथ सभी अस्थाई...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

लोकपाल का गठन ऐसे समय में हो रहा है जब देश में आदर्श आचार संहिता अमल में आ चुकी है (दैनिक जागरण)

देश के पहले लोकपाल के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश पीसी घोष का नाम सामने आना एक अच्छी खबर तो है, लेकिन अगर उनके नाम की आधिकारिक घोषणा हो जाती है तो भी यह कहना कठिन है कि भ्रष्टाचार रोधी एक प्रभावी और विश्वसनीय व्यवस्था आकार लेने वाली है। एक तो अभी लोकपाल...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चुनाव के समय संकीर्ण राजनीतिक स्वार्थों के कारण नेताओं में दलबदल की बीमारी घेर लेती है (दैनिक जागरण)

आम चुनाव की घोषणा होते ही दलबदल शुरू हो जाना कोई नई-अनोखी बात नहीं, लेकिन यह भी साफ है कि अब यह काम बिना किसी शर्म-संकोच के हो रहा है। दो दिन पहले तक दल विशेष की भयंकर आलोचना करने वाले नेता जिस तरह बिना किसी हिचक के उसी दल में शामिल हो जा रहे...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

और अब श्वेत आतंकवाद का उभार (प्रभात खबर)

आशुतोष चतुर्वेदी, प्रधान संपादक, प्रभात खबर न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों पर अंधाधुंध गोलीबारी कर 50 लोगों की जान लेने की घटना ने पूरी दुनिया को स्तब्ध कर दिया है. मौत का खेल खेलने वाले श्वेत आतंकवादी ब्रेंटन टैरेंट को जब कोर्ट में पेश किया गया और हत्या के आरोप तय किये गये, तो...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

राहत और सवाल (जनसत्ता)

सुप्रीम कोर्ट ने क्रिकेटर शांताकुमारन श्रीसंत पर से आजीवन प्रतिबंध हटा कर उन्हें एक बड़ी राहत दे दी है। इस खिलाड़ी पर यह प्रतिबंध भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने लगाया था। श्रीसंत के लिए सबसे सुखद बात तो यही है कि ‘आजीवन प्रतिबंध’ की सजा से वे अब मुक्त हो गए हैं। इससे उनके...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

निर्णय लेने की हिम्मत (अमर उजाला)

तवलीन सिंह इन दिनों मैं जहां भी जाती हूं, लोग मुझसे एक ही सवाल करते हैं। नरेंद्र मोदी फिर से चुनाव जीतेंगे क्या? जवाब देने के बदले जब मैं यही सवाल उनसे पूछती हूं, तब अक्सर उत्तर होता है, ‘मोदी जरूर जीतेंगे।’ जवाब देनेवाला भले ही कोई छोटा कारोबारी हो या बड़ा उद्योगपति या दिल्ली,...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

चुनाव सुधार कौन चाहता है (अमर उजाला)

जगदीप एस छोकर पिछले दिनों लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी करते हुए चुनाव आयोग ने जो कदम उठाए, उन्हें साफ-सुथरे चुनाव की दिशा में बड़ा कदम बताया जा रहा है। यह बात सुनने में तो बहुत अच्छी लगती है। लेकिन क्या वास्तव में ऐसा है? बताया गया कि सोशल मीडिया पर प्रचार को अब प्रत्याशी...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

निर्यात की चिंता (बिजनेस स्टैंडर्ड)

केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार इस समय देश का व्यापार घाटा पिछले एक वर्ष की अवधि में सबसे निचले स्तर पर है। देश के आयात और निर्यात के बीच का अंतर फरवरी 2019 में 9.6 अरब डॉलर हो गया। जबकि जनवरी 2019 में यह 14.7 अरब डॉलर था। बहरहाल, इन...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जांच में फर्जी तरीका अपनाने वाले अधिकारियों पर हो सख्ती (बिजनेस स्टैंडर्ड)

सोमशेखर सुंदरेशन यह असली ‘न्यू इंडिया’ का एक अनूठा रूप है। न्यायपालिका की सर्वोच्च अदालत ने हाल ही में हत्या के आरोप में दोषी ठहराए जा चुके छह घुमंतू कबायलियों को जेल से रिहा करने का असाधारण निर्णय सुनाया। उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में पेश साक्ष्यों की गहन पड़ताल के बाद इन अभियुक्तों को...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register