Category: हिन्दी संपादकीय

हॉन्ग कॉन्ग में उपद्रव का चीन पर प्रभाव (बिजनेस स्टैंडर्ड)

श्याम सरन हॉन्ग कॉन्ग में राजनीतिक अशांति बदस्तूर जारी है और लगातार हिंसात्मक एवं चीन-विरोधी रुख व्याप्त है। बढ़ते विरोध को दबाने के लिए चीन की सेना के निर्मम एवं रक्तरंजित तरीकों का सहारा लेने की आशंका अधिक बलवती होती जा रही है। अमेरिकी दूतावास की तरफ कूच करते समय प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

तूफान से सबक (हिन्दुस्तान)

द जापान टाइम्स, जापान जापान जिस तरह से बड़ी त्रासदी का शिकार हुआ है, क्या वह रग्बी वल्र्ड कप और 2020 ओलंपिक के आयोजन के लिए तैयार है? पिछले सप्ताह तूफान ने जिस तरह से जापान में तबाही मचाई है, उससे यह साफ पता चल गया है कि टोक्यो में किस तरह से त्रासदी की...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

सियासी रंजिश और बदले की राजनीति (हिन्दुस्तान)

एस श्रीनिवासन बीती 11 सितंबर को आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू अमरावती के अपने घर में एहतियातन ‘नजरबंद’ कर दिए गए। ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि पास के गुंटूर जिले में कुछ ग्रामीणों को गांव से बाहर निकालने के विरोध में आयोजित रैली में भाग लेने के लिए वह जाने वाले थे। उन्हें...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पेट्रोल का युद्ध (हिन्दुस्तान)

यमन विद्रोहियों के ड्रोन हमले ने सऊदी अरब की तेल उत्पादन इकाई को ही नुकसान नहीं पहुंचाया, उसके धमाके ने पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को ही हिला दिया है। सऊदी अरब की सरकारी कंपनी अरामको की यह इकाई दुनिया की छह फीसदी पेट्रोलियम जरूरतों को पूरा करती है। इससे सऊदी अरब को तो सीधा नुकसान...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

छोटे कद की जिंदगी और हमारी बौनी नीतियां (हिन्दुस्तान)

क्षमा शर्मा, वरिष्ठ पत्रकार पश्चिमी देशों में बौने परी कथाओं का अभिन्न हिस्सा रहे हैं। वे अच्छे और बुरे, दोनों तरह के पात्रों के रूप में मिलते हैं। स्नो व्हाइट और सात बौनों की कथा तो याद होगी! बौनों के साम्राज्य की कहानियां भी हैं। पाताल लोक में बसने वाले बौने भी कहानियों में आते...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

तेल का सामरिक सवाल (बिजनेस स्टैंडर्ड)

सऊदी अरब की दिग्गज पेट्रोलियम कंपनी अरामको के संयंत्र पर ड्रोन के जरिये हमले की अप्रत्याशित घटना ने भारत समेत समूची दुनिया को हिलाकर रख दिया है। इस हमले में यमन के हूती विद्रोहियों के शामिल होने की बात कही जा रही है। हमले के बाद अरामको ने अपने उत्पादन में आधी यानी प्रतिदिन करीब...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

शांति की ओर (हिन्दुस्तान)

देश के किसी भी इलाके में हिंसा रोकने के प्रति भारत सरकार की सजगता और वहां के लोगों की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, दोनों ही भारतीय लोकतंत्र की सदैव स्वागतयोग्य विशेषताएं हैं। इस देश की व्यवस्था विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका की संयुक्त जिम्मेदारी है। समय-समय पर ये तीनों एक-दूसरे को प्रेरित-संशोधित करते रहे हैं और...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भोजन की पारंपरिक शैली और आधुनिक बीमारियां (हिन्दुस्तान)

संचिता शर्मा, हेल्थ एडीटर, हिन्दुस्तान टाइम्स जर्मनी में हुए एक अध्ययन के मुताबिक, व्रत रखने और पारंपरिक आहार की ओर लौटने से एलर्जी व ‘ऑटोइम्यून डिसॉर्डर’ (वैसी बीमारियां, जिनमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती हैं) को घटाने में मदद मिल सकती है। नेचर कम्युनिकेशंस में प्रकाशित यह अध्ययन बताता है कि...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

गृहमंत्री और BJP अध्यक्ष अमित शाह ने कहा- जन-अपेक्षाओं पर खरा नेतृत्व (हिन्दुस्तान)

अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री व भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 69वां जन्मदिन है। छोटी उम्र से ही उनका जीवन राष्ट्र-सेवा के लिए समर्पित रहा है। किशोरावस्था से ही समाज के शोषित-वंचित वर्गों के लिए काम करने की तरफ उनका रुझान रहा। एक बेहद गरीब परिवार में पैदा होने के कारण उनका...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

असुरक्षा बोध और आपराधिक न्याय (दैनिक ट्रिब्यून)

क्षमा शर्मा पिछले दिनों बच्चा चोरी और बच्चा उठाने की अफवाहें लगातार फैलती रही हैं। एक जगह से होते हुए अब ये पूरे देश में जा पहुंची हैं। हर रोज ऐसी खबरें आ रही हैं कि लोग किसी को भी बच्चा चोर समझकर पकड़ रहे हैं, पीट रहे हैं। उदाहरण के तौर पर एक औरत...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register