Category: इसे भी जानें

मजबूत जनसंख्या नीति से होगा गरीबी उन्मूलन (बिजनेस स्टैंडर्ड)

पार्थसारथि शोम गत माह मैंने अपने आलेख में चीन के जनसंख्या नियंत्रण का जिक्र करते हुए कहा था कि वह अपनी जनसंख्या नियंत्रण नीति की बदौलत सन 1960 के दशक के अंत से ही प्रति व्यक्ति जीडीपी वृद्धि के मामले में निरंतर भारत से आगे बना रहा। दोनों देशों के बीच जीडीपी वृद्घि दर का...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जब राजनारायण ने इंदिरा गांधी को रायबरेली से हरा दिया (प्रभात खबर)

अनुज कुमार सिन्हा 1977 वह साल था जब पहली बार कांग्रेस सत्ता से बाहर हुई थी. इस आम चुनाव की एक और बड़ी खबर थी. वह खबर थी- लाेकसभा चुनाव में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की रायबरेली में हार. उन्हें 55,202 मताें से हराया था भारतीय लाेकदल के प्रत्याशी राजनारायण ने. इंदिरा गांधी काे सिर्फ...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

बासी भात में खुदा का साझा (प्रभात खबर)

मृणाल पांडे, ग्रुप सीनियर एडिटोरियलएडवाइजर, नेशनल हेराल्डmrinal.pande@gmail.com आम चुनावों की आहट पाते ही छोटे दलों के उजाड़ उपवनों में वसंत छाने लगता है. लोकदल, पीएमके, डीएमडीके, अपना दल, लोजपा, मनसे और न जाने कितने दलों में नयी कोंपलें निकल आती हैं. संस्थाओं, नियमों, परंपराओं पर टिके लोकतंत्र में ये वन-उपवन सहजता से फलते-फूलते रहते हैं....

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

कश्मीरी युवाओं को कैसे जोड़ें (अमर उजाला)

सुरेंद्र कुमार पुलवामा में हुए आत्मघाती बम धमाके से, जिसमें सीआरपीएफ के चालीस जवान मारे गए, देश भर में व्यापक गुस्सा और आक्रोश है। पाकिस्तान को सबक सिखाने का आह्वान चरम पर पहुंच गया है। जैश-ए-मोहम्मद द्वारा जिम्मेदारी लेने के बावजूद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने इस हमले से किसी तरह का संबंध न होने का दावा...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

बैंक ऋण की मानक दर अब तक कपोल कल्पना (बिजनेस स्टैंडर्ड)

तमाल बंद्योपाध्याय आगामी अप्रैल तक देश के बैंकों को अपने फ्लोटिंग रेट वाले ऋण और सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों को दिए गए ऋण को कम से कम चार मानकों में से किसी एक से जोडऩा होगा। ये मानक हैं, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की रीपो दर, 91 दिन और 182 दिन के ट्रेजरी बिल, ओवरनाइट...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

चुनाव के लिए गठबंधन (पत्रिका)

अगले लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुटे लगभग सभी राजनीतिक दल गठबंधन बनाने के लिए धागे जोडऩे में लगे हैं। एक लंबे समय तक समाजवादी विचारधारा के साथ कांग्रेस का सत्ता पर एकाधिकार रहा। उसकी उपस्थिति देशव्यापी थी। उसे सत्ता से च्युत करने की कोशिश में विपक्षी दल मिल कर चुनावों में उतरने लगे और...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

मित्रों पर निर्भर पाक-अर्थव्यवस्था (प्रभात खबर)

अजीत रानाडे सीनियर फेलो, तक्षशिला इंस्टीट्यूशन editor@thebillionpress.org पुलवामा के आतंकी हमले की विभीषिका रोंगटे खड़े करनेवाली है. इसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मुहम्मद ने ली है, जो पाकिस्तान से संचालित होता है. इस हमले के लिए उन्नत योजना, आपूर्ति व्यवस्था, हथियारों और विस्फोटक की प्राप्ति, धन प्रवाह तथा सटीक सूचना की आवश्यकता थी, जो संस्थागत और सुव्यवस्थित समर्थन...

This content is for Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

पुलवामा आतंकी हमले के मायने (प्रभात खबर)

आकार पटेल, कार्यकारी निदेशक, एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडियाaakar.patel@gmail.com जैशे-मोहम्मद मतलब मोहम्मद की सेना. यह आश्चर्यजनक है, क्योंकि इस्लाम के पैगम्बर की जीत की कोई आकांक्षा नहीं थी. अरब का विस्तार मोहम्मद की मृत्यु के बाद खलीफाओं, विशेषकर उमर के दौर में शुरू हुआ. जैश एक पाकिस्तानी संगठन है और यह ज्यादातर पाकिस्तान के ग्रामीण पंजाबियों की भर्ती करता...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

जब पाकिस्तान को मिला करारा जवाब (हिन्दुस्तान)

डी के बड़ोला ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) वाईएसएम मैं कारगिल युद्ध के दौरान कश्मीर में अपनी पलटन को कमांड कर रहा था। जम्मू-कश्मीर में तैनात सेकेंड नगा रेजिमेंट को कारगिल ऑपरेशन के दौरान मश्कोह वैली में तैनात किया गया था। सरहद की हिफाजत करने में देश के बहादुर जवान कोई भी कसर नहीं छोड़ रहे थे। चाहे...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

दाग दिखाते उजाले से कैसा डर (दैनिक ट्रिब्यून)

विश्वनाथ सचदेव मुम्बई की नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट का देश की कला के अतीत और वर्तमान से एक गहरा और आत्मीय रिश्ता है। हाल ही में यहां हमारे समय के महत्वपूर्ण चित्रकार प्रभाकर बर्वे के चित्रों की प्रदर्शनी आयोजित की गयी थी। होना तो यह चाहिए था कि इस आयोजन का उल्लेख अपनी कला...

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register