Category: इसे भी जानें

बीमार चिकित्सा तंत्र में हड़ताल ( हिन्दुस्तान)

विभूति नारायण राय, पूर्व आईपीएस अधिकारी पश्चिम बंगाल में पिछले कुछ दिनों से डॉक्टरों के साथ जो कुछ हो रहा है, वह तो देश के किसी हिस्से में कभी भी हो सकता है या कमोबेश हर जगह होता रहा है। राजधानी दिल्ली समेत अलग-अलग शहरों में सरकारी या निजी अस्पताल में इलाज के दौरान किसी...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

रोजगार पैदा करने का कौशल (अमर उजाला)

जयंतीलाल भंडारी केंद्रीय सांख्यिकीय कार्यालय के श्रमबल के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2017-18 के दौरान देश में बेरोजगारी की दर 6.1 फीसदी रही है। कई आर्थिक विश्लेषकों का कहना है कि देश में बेरोजगारी की दर 45 साल में सर्वाधिक है। ऐसे में पांच जून को रोजगार में कमी की चुनौती से निपटने के...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

मंत्री से सांसद बने नेताओं की जाने वाली है चौधराहट, उधर चुनाव हारने वालों का बचा मंत्री पद (दैनिक जागरण)

राज्यनामा [उत्तर प्रदेश]। भगवा पार्टी ने मंत्री जी को दूसरे जिले की सीट पर उनकी बिरादरी की बहुलता के चलते चुनाव मैदान में उतारा था लेकिन, मंत्री जी करिश्मा नहीं कर पाए। मंत्रिमंडल के उनके बाकी साथी चुनाव जीत गये तो उन पर तोहमत अलग लगी कि उनके विभाग में भ्रष्टाचार का असर चुनाव परिणाम...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

नई पारी (जनसत्ता)

भारी बहुमत से चुनाव जीत कर दुबारा सत्ता की कमान संभालने वाली भाजपा और सहयोगी दलों की सरकार के मंत्रियों पर स्वाभाविक ही लोगों की नजर थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भव्य समारोह में अपने पद और गोपनीयता की शपथ ली। उनकी सरकार में ज्यादातर पुराने मंत्रियों को शामिल किया गया है। कुछ नए मंत्रियों...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारत ‘श्रीकार्य’, क्यों नहीं गुलामी के प्रतीक ‘सरकार’ शब्द को अलविदा कह दे ‘नया भारत’ (दैनिक जागरण)

अतुल पटैरिया : 30 मई को भारत में नई ‘सरकार’ का गठन होना है। वह भी ‘मोदी सरकार’ का। अजब तथ्य है कि विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र भारत अपनी स्वतंत्रता के सात दशक बाद भी फारसी ‘सरकार’ का स्वदेशी विकल्प नहीं ढूंढ सका है, जिसकी अपेक्षा अब की जा रही है। फारसी का यह...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

भारत भाग्य विधाता (पत्रिका)

माननीय नरेन्द्र मोदी जी, बधाइयां! प्रचण्ड बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सरकार का नेतृत्व करने का पहले से ज्यादा जनादेश प्राप्त करने के लिए। मेरे जीवन काल में ऐसा तूफान नहीं देखा कि मेरे राज्य की सभी 25 सीटें एक ही दल को चली गईं, पड़ोसी राज्य की भी चली गईं और फिर पांच...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा की लोक सभा चुनाव में हताशा बता रही है कि मोदी सरकार की विदाई तय है (दैनिक जागरण)

[ राजीव गौड़ा, सलमान सोज ]: केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा की हताशा से यह दिखने लगा है कि मोदी सरकार की विदाई तय है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी भाषणों और वित्त मंत्री अरुण जेटली के ब्लॉग में उनकी सरकार के प्रदर्शन के ब्योरे से पांच साल में दो करोड़ रोजगार और किसानों की आय...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

कहानियों की उंगली थाम वे किताबों तक जा पहुंचते हैं (हिन्दुस्तान)

क्षमा शर्मा वरिष्ठ पत्रकार बचपन की पहली कहानियां हम परिवार से ही सुनते रहे हैं। दादा-दादी की कहानियां, नाना-नानी की कहानियां, ऐसी न जाने कितनी परंपराएं हैं, जो परिवारों में पीढ़ी-दर-पीढ़ी चली हैं। इन कहानियों के राजा-रानी, परियां, जादूगर, उड़ने वाले घोड़े, जादुई पहाड़, मतवाले हाथी, भयानक राक्षस, मायावी भूत-प्रेत कई बार सपनों में आकर...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Half-yearly Subscription, Yearly Subscription and Monthly Subscription members only.
Log In Register

तेल का संकट (जनसत्ता)

ईरान से कच्चा तेल खरीदने को लेकर अमेरिका ने भारत सहित कई देशों पर लगाई पाबंदी पर जो ढील दे रखी थी, उसकी अवधि दो मई को खत्म हो जाएगी। इसके बाद भारत ईरान से कच्चा तेल नहीं खरीद पाएगा। अगर फिर भी भारत ऐसा करता है तो अमेरिका के साथ उसके रिश्ते बिगड़ेंगे। भारत...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register

पत्थर से जूस (हिन्दुस्तान)

पिछले दिनों राह चलते-चलते बेल का शर्बत बेचने वाले के ठेले पर लिखा देखा : बेलपत्थर का जूस। मेरी समझ में नहीं आया कि आखिर बेल कब से बेलपत्थर हो गया और उसका शर्बत क्योंकर जूस! हमने जब ठेले वाले से इस बाबत पूछा, तो उसने कहा, ‘बेल तो वह होती है, जिस पर फूल...

This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register