फंसे हुए कर्ज के समाधान के दिलचस्प मामले  (बिजनेस स्टैंडर्ड)

तमाल बंद्योपाध्याय भारत के दिवालिया समाधान कानून के तहत गठित राष्ट्रीय कंपनी कानून अधिकरण (एनसीएलटी) अगले कुछ दिनों में 6,113 करोड़ रुपये के भारी-भरकम कर्ज से संबंधित दो मामलों का निपटारा कर सकता है। इन दोनों ही कंपनियों पर सबसे ज्यादा बकाया कर्ज भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का है। पंजाब नैशनल बैंक, कैनरा बैंक और…

This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register
Updated: May 9, 2019 — 7:31 pm