बदलाव की बयार लाई किसान चाची (दैनिक ट्रिब्यून)


अरुण नैथानी एक बंद समाज की दहलीज लांघकर अपना नया मुकाम तय करना किसी स्त्री के लिये आसान नहीं होता। फिर पुरुष के वर्चस्व वाले क्षेत्र में पहचान बनाना और परिवार को आत्मनिर्भर बनाने के साथ हजारों चूल्हों को जलाना आसान नहीं है। मगर बिहार के मुजफ्फरपुर के सरैया प्रखंड के गांव आनंदपुर की राजकुमारी…


This content is for Welcome Subscription Special  offer, Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register


Updated: March 15, 2019 — 12:53 PM