बेरोजगारी का कारण! (राष्ट्रीय सहारा )


समाज में महिलाओं के साथ भेदभाव, उनकी सामाजिक हैसियत कमतर आंके जाने या उनके क्रिया-कलापों द्वारा व्याप्त असंतुलन और विसंगित को लेकर तरह-तरह के कुर्तक व अविवेकपूर्ण व्याख्याएं सामने आती रहती हैं। जाहिर है, इसके विरोध में स्वर बुलंद करना लाजिमी हो जाता है।


This content is for Monthly Subscription, Half-yearly Subscription and Yearly Subscription members only.
Log In Register


Updated: September 25, 2015 — 2:52 PM