सांसदों का निलंबन (राष्ट्रीय सहारा)


संसद लोकतंत्र की सर्वोच्च संस्था है। इसे लोकतंत्र का मंदिर भी कहा जाता है। यहां वाद-विवाद और संवाद के माध्यम से समस्याओं का निराकरण किया जाता है, लेकिन कुछ दशकों से यह बौद्धिक वाद-विवाद और संवाद की जगह हल्ला-गुल्ला और हंगामा का स्थल बनता जा रहा है। संसदीय मर्यादाओं की अवहेलना करने वाली यह दुष्प्रवृत्ति…


This content is for Monthly Subscription members only.
Log In Register


Updated: January 5, 2019 — 3:04 PM